Latest News
Home कोरोना वायरस PM CARES FUND में विजय पारिख ने दिया था ढाई लाख दान, लेकिन बेड ना मिलने से मां का निधन!

PM CARES FUND में विजय पारिख ने दिया था ढाई लाख दान, लेकिन बेड ना मिलने से मां का निधन!

by Khabartakmedia

Gujrat, Ahmedabad. “251K का दान मेरी मरती हुई मां के लिए बिस्तर सुनिश्चित नहीं कर सका। कृपया सलाह दें कि मुझे तीसरी लहर के खातिर कितना दान करना चाहिए ताकि मैं और सदस्यों को न खोऊं?” ये विजय पारिख नाम के एक शख्स के ट्वीट का हिंदी अनुवाद है। विजय पारिख ने इस ट्वीट में PMO, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, आरएसएस, कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी और राष्ट्रपति भवन को टैग किया है। कहा जा सकता है कि उन्होंने इन्हीं लोगों से ये सवाल भी पूछे हैं।

विजय पारिख गुजरात के अहमदाबाद के रहने वाले हैं। वही राज्य जहां से भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह आते हैं। पारिख ने कोरोना वायरस महामारी में उनकी मां का निधन हो गया है। क्योंकि उनकी मां को किसी अस्पताल में बेड नहीं मिल सका। ये कहानी हजारों लोगों की अपनी कहानी हो चुकी है। अस्पताल में भर्ती नहीं मिलने, ऑक्सीजन नहीं मिलने जैसे कारणों से हजारों लोगों की सांसे उखड़ गई है।

एक वजह है जिसके चलते विजय पारिख की कहानी थोड़ी अलग है। उन्होंने पिछले साल PM CARES Fund में दान दिया था। 2 लाख 51 हजार रुपए का दान। ट्विटर पर विजय ने एक फोटो शेयर की है जो कि पीएम केयर्स फंड में दान की रसीद है। इसी तस्वीर से पता चलता है कि विजय पारिख ने 10 सितंबर, 2020 को ढाई लाख रुपए दान दिए थे। जिसके बाद उन्हें एक डिजिटल रसीद मिला। इस रसीद में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उन्हें धन्यवाद भी दिया है।

किसकी है जवाबदेही:

गौरतलब है कि कोरोना महामारी की शुरुआत में ही भारत में पीएम केयर्स फंड बनाया गया था। इसे प्रधानमंत्री द्वारा जारी किया गया था। पीएम नरेंद्र मोदी ने सभी से अपील की थी कि लोग अपनी क्षमता के अनुसार इसमें दान दें। ताकि भारत इस कोरोना महामारी से लड़ सके। इस फंड को इसलिए बनाया गया था ताकि कोरोना से लड़ने के लिए जरूरी स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जा सकें।

अस्पतालों की व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए ही ये खास फंड बनाया गया था। प्रधानमंत्री की अपील में लाखों लोगों ने इस फंड में योगदान दिया। लाखों लोगों ने अपनी शक्ति के हिसाब से दान दिया। विजय पारिख भी उनमें से एक हैं। उन्होंने 2 लाख 51हजार रुपए दान दिए। लेकिन अब उनकी मां का निधन हो गया। क्योंकि अस्पताल में उन्हें बेड नहीं मिल सका।

अब भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को खुद विजय पारिख के सवालों का जवाब देना चाहिए। क्योंकि उनके अपील पर ही विजय ने दान दिया था। इसके बावजूद वो अपनी मां को नहीं बचा सकें। क्या प्रधानमंत्री मोदी को इस बात को जवाब नहीं देना चाहिए कि आखिर ऐसा क्यों हुआ? क्यों विजय पारिख की मां को इलाज नहीं मिल सकी? जो सवाल विजय पारिख ने खुद पूछा है उसका जवाब भी पीएम मोदी को देना चाहिए। आखिर कितना और दान देना होगा ताकि उनके घर का कोई सदस्य अब अपनी जान न गंवाए और उसे अस्पताल में जगह मिल सके? क्या प्रधानमंत्री कभी इस सवाल का जवाब देंगे?

Related Articles

Leave a Comment