Latest News
Home देश आम बजट पर ख़ास टिप्पणी, पढ़िए किसने क्या कहा

आम बजट पर ख़ास टिप्पणी, पढ़िए किसने क्या कहा

by Khabartakmedia

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन् ने सोमवार को संसद में 2021-22 का आम बजट पेश कर दिया है। बजट पेश होने के बाद से लगातार टीका टिप्पणी का दौर शुरू हो गया है। इसकी आम और ख़ास हर बिंदु पर बहस चल रही है। सरकारी बजट में किसके हिस्से क्या आया इस पर भी बहस हो रही है। केंद्र सरकार एक बार फिर निजीकरण के तहत “बेचने की नीति” पर घिर गई है।

आम बजट को भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अवसरों से भरा हुआ बताया है, जो कई क्षेत्रों में विकास को आगे बढ़ाएगा। उन्होंने कहा कि इससे निवेशकों, उद्योग और बुनियादी ढांचे के लिए सकारात्मक बदलाव लाएगा। पीएम ने इसे रोजगार सृजन की दिशा में भी पारदर्शी बताया।

कांग्रेस नेता और वायनाड सांसद राहुल गांधी ने बजट की आलोचना की है। उन्होंने कहा है कि केंद्र सरकार लोगों के हाथ में सीधा पैसा पहुंचाना भूल गई। मोदी सरकार ने भारत की संपत्ति को अपने क्रोनी पूंजीवादी मित्रों को देने की योजना बनाई है। राहुल गांधी ने सरकार से रक्षा बजट नहीं बढ़ाने पर भी सवाल किया।

राहुल गांधी के रक्षा बजट पर किए गए सवाल पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने न्यूज एजेंसी एएनआई से कहा है कि “मुझे लगता है कि उन्होंने बजट को ध्यान से ना सुना है और ना पढ़ा है। उन्हें अपने परिवार का इतिहास पढ़ना चाहिए, जिनका करीबी रिश्ता चीन के साथ रहा है। सेना के जवानों के साथ पीएम में त्योहार मनाया, इस पर राहुल गांधी का बयान बचकाना है।”

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी तीखी टिप्पणी की है। उन्होंने दावा किया है कि यह बजट महंगाई के साथ आम जन मानस की समस्याओं को बढ़ाने का काम करेगा।

सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बजट को रोजगार बढ़ाने वाला, किसान को न्याय देने वाला और सभी समाज को आगे ले जाने वाला बताया है। प्रकाश जावड़ेकर पर्यावरण मंत्री भी हैं। उन्होंने बताया कि सौ शहरों में स्वच्छ हवा के लिए दो हजार करोड़ रुपए दिए गए हैं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसे पंडित दीनदयाल उपाध्याय के साथ जोड़ा। उन्होंने कहा कि “पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी के स्वप्न हर हाथ को काम को साकार करता यह आम बजट सर्वोत्कर्ष को समर्पित है।” योगी आदित्यनाथ ने ट्विटर पर इसको लेकर ढेरों ट्वीट किए। इस दौरान उन्होंने कई बार प्रधानमंत्री मोदी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन् को धन्यवाद दिया।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नतृत्व में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन् का क्रांतिकारी बजट बता दिया।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता भूपेश बघेल ने जॉन एलिया का एक शेर लिखकर केंद्र सरकार के बेचने की नीति पर चुटकी ली है। उन्होंने इस बजट को “ज़ीरो बटा सन्नाटा” कहा है।

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने आम बजट को मायूसी का दस्तावेज कहा है। उन्होंने ट्वीट कर सरकार से कई सवाल पूछे हैं। उन्होंने लिखा है कि “बड़े बड़े अर्थशास्त्री भी बजट में माइक्रोस्कोप लगाकर भी किसी के लिए भी अच्छे दिन नहीं ढूंढ़ पा रहे हैं।”

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने चुटकीले अंदाज में ट्वीट किया है कि “भाजपा सरकार मुझे उस गैराज मैकेनिक की याद दिलाती है, जो अपने ग्राहक से कहता है कि मैं तुम्हारे ब्रेक ठीक नहीं कर सकता। इसलिए मैंने तुम्हारा हॉर्न बढ़ा दिया है।”

बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने बजट पर सरकार के समर्थन और विरोध से अलग कुछ सलाह दिए हैं। उन्होंने कहा कि “सरकार अपने वायदों को जमीनी हकीकत में लागू करे तो यह बेहतर होगा।”

Related Articles

Leave a Comment