Latest News
Home ताजा खबर जिला पंचायत अध्यक्ष: उत्तर प्रदेश में साइकिल पंचर, हाथ साफ, लहलहा के खिला कमल

जिला पंचायत अध्यक्ष: उत्तर प्रदेश में साइकिल पंचर, हाथ साफ, लहलहा के खिला कमल

by
Massive win for BJP in Uttar Pradesh local body elections.

Uttar Pradesh Politics. उत्तर प्रदेश में जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव के नतीजे सामने आ चुके हैं। काफी गहमागहमी के बीच मतदान समाप्त हुआ और परिणाम सामने आए हैं। जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव ने समाजवादी पार्टी (सपा) की साइकिल को जोरदार धक्का लगाया है। तो वहीं कांग्रेस का हाथ कहीं देखने को भी नहीं मिला है। लेकिन सत्तारूढ़ दल भारतीय जनता पार्टी (BJP) का कमल पूरे राज्य में खिल उठा है।

जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव के नतीजों पर नजर डालें तो कमल का रंग बेहद गाढ़ा दिखता है। पूरे प्रदेश में 75 जिले हैं। जहां जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव हुए हैं। 75 में से 65 सीटों पर भाजपा के प्रत्याशी ने जीत हासिल की है। प्रचंड बहुमत की तरह ये आंकड़ा है।

समाजवादी पार्टी के महज 6 प्रत्याशी ही जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव जीत सके हैं। ये सपा और अखिलेश यादव के लिए किसी सदमे से कम नहीं हैं। इस चुनाव में सपा को करारी शिकस्त झेलनी पड़ी है। जबकि कांग्रेस का हाल नील बटे सन्नाटा की तरह हो गया है। कांग्रेस का एक भी प्रत्याशी इस चुनाव को जीतने में कामयाब नहीं हो सका। कांग्रेस पार्टी का खाता भी नहीं खुला है। जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में चार सीटें अन्य के खाते में गई हैं।

गौरतलब है कि 2022 के शुरुआत में ही उत्तर प्रदेश में विधानसभा के चुनाव होने हैं। विधानसभा चुनाव से पहले जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव को अहम माना जा रहा है। इसका असर विधानसभा चुनावों पर कितना होगा? ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा। लेकिन फिलहाल समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के लिए मुश्किलें खड़ी हो गई हैं। ये दोनों पार्टियां जल्द से जल्द चुनाव को लेकर पुख्ता तैयारियों में जुटना चाहेंगी।

Related Articles

Leave a Comment