Latest News
Home ताजा खबर सीवर साफ करते हुए सबसे ज्यादा मौत उत्तर प्रदेश में, केंद्र सरकार की रिपोर्ट!

सीवर साफ करते हुए सबसे ज्यादा मौत उत्तर प्रदेश में, केंद्र सरकार की रिपोर्ट!

by Khabartakmedia

सीवर और शौचालय की टंकी साफ करते हुए अक्सर सफाईकर्मी के मौत की खबरें आती हैं। बगैर सुरक्षा उपकरणों के सफाईकर्मियों को इन ख़तरनाक कामों में झोंक दिया जाता है। लापरवाही के कारण कई दफा इनकी मौत भी हो जाती है। एक आंकड़ा सामने आया है। जिससे यह खुलासा हुआ है कि उत्तर प्रदेश में सबसे अधिक ऐसी घटनाएं होती हैं।

पिछले पांच सालों में उत्तर प्रदेश में सीवर और शौचालय की टंकी साफ करते हुए कुल 52 कामगारों की मौत हुई है। पूरे भारत में यह आंकड़ा सबसे अधिक उत्तर प्रदेश में ही है। सबसे कम मौत छत्तीसगढ़ में हुई है। पिछले पांच सालों में यहां केवल एक ऐसी मौत हुई है। उत्तर प्रदेश के पड़ोसी राज्य बिहार में इस दौरान कुल आठ मौत की घटनाएं सामने आई हैं। सबसे ज्यादा मौत के मामले में उत्तर प्रदेश के बाद तमिलनाडु है। जहां 43 मौतें हुई हैं।

यह आंकड़ा केंद्र सरकार ने लोकसभा में बताया है। लोकसभा में सरकार से इस बाबत सवाल पूछा गया था। जिसका जवाब देते हुए नरेंद्र मोदी सरकार ने 31 दिसंबर, 2020 तक के आंकड़े पेश किए हैं। इसमें भारत के उन सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों का नाम है, जहां ऐसी घटना दर्ज की गई है। इनमें कुल 19 राज्यों के नाम हैं। केंद्र सरकार के मुताबिक पूरे देश में पिछले पांच सालों में सीवर की सफाई करते हुए 340 सफाईकर्मियों की मौत हुई है

हालांकि केंद्र सरकार ने इन 340 लोगों को मुआवजे के रूप में क्या दिया, इसका कोई जिक्र नहीं है। गौरतलब है कि शहर और गांवों में सीवर लाइन की सफाई के काम में खूब लापरवाही बरती जाती है। बिना किसी सुरक्षा व्यवस्था के ही सफाईकर्मी सीवर की टंकियों में उतर जाते हैं। सफाईकर्मियों को सरकार से कोई सुरक्षा किट नहीं मिलती है। कई दफा इसके लिए जारी फंड “बड़े पेटों” तले खत्म हो जाती है। कई ऐसे भी मामले सामने आए हैं जिनमें सफाईकर्मी भी लापरवाह दिखते हैं। जिससे कई बार इनकी जान चली जाती है। अत्याधुनिक तकनीक के दौर में भी भारत में ऐसी घटनाओं का इस पैमाने पर होना शर्मनाक है।

Related Articles

Leave a Comment