Latest News
Home राजनीति UP में सियासी उठापटक शुरू, बड़े कांग्रेसी नेता ने थामा भाजपा का दामन! हार चुके हैं पिछले 3 चुनाव?

UP में सियासी उठापटक शुरू, बड़े कांग्रेसी नेता ने थामा भाजपा का दामन! हार चुके हैं पिछले 3 चुनाव?

by Khabartakmedia
Jitin Prasad and Piyush Goyal

Uttar Pradesh Politics. उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने में कुछ महीने बच गए हैं। 2022 में ही उत्तर प्रदेश का चुनाव होना है। अब सूबे में चुनावी चहलपहल भी दिखने लगी है। नेताओं के कुर्ते का रंग बदलने लगा है। एक दल से दूसरे दल में जाने की विशुद्ध राजनीतिक प्रक्रिया शुरू हो गई है। बुधवार को उत्तर प्रदेश में एक ऐसी ही उलटफेर हुई है। कांग्रेस के पुराने नेता और केंद्रीय मंत्री रहे जितिन प्रसाद (Jitin Prasad) ने आज पाला बदल लिया है। जितिन प्रसाद कांग्रेस से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में चले गए हैं।

जितिन प्रसाद ने आज ही दिल्ली में भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। केंद्रीय रेलवे मंत्री पीयूष गोयल ने पार्टी की सदस्यता दिलाई। दिल्ली के दीनदयाल उपाध्याय मार्ग पर स्थित भाजपा कार्यालय में उन्होंने पार्टी का दामन थामा। दोपहर 1 बजे जितिन प्रसाद भाजपा में शामिल हुए।

भाजपा में शामिल होकर जितिन प्रसाद ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार जताया। साथ ही कहा कि आज से मेरे जीवन का एक नया अध्याय शुरू हो रहा है।

अमित शाह से मिले जितिन:

जितिन प्रसाद पहले से दिल्ली पहुंचे हुए थे। भाजपा में शामिल होने से पहले उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा के शीर्ष नेता अमित शाह से मुलाकात की। जितिन प्रसाद अपने आवास से अमित शाह के आवास पर पहुंचे।

अमित शाह से मिलने के बाद जितिन प्रसाद केंद्रीय रेलवे मंत्री पीयूष गोयल के आवास पहुंचे। यहां से दोनों नेता भाजपा कार्यालय गए। जिसके बाद औपचारिक रूप से जितिन प्रसाद भाजपा में शामिल हुए।

कांग्रेस को झटका या नहीं होगा असर:

जितिन प्रसाद के भाजपा में शामिल होते ही तरह तरह की बहसें शुरू हो गई हैं। कई लोग इसे कांग्रेस के लिए बड़ा झटका बता रहे हैं। जबकि कई लोगों का कहना है कि जितिन प्रसाद के कांग्रेस छोड़ने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा।

बता दें कि जितिन प्रसाद उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर से आते हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में जितिन प्रसाद हार गए थे। इसके बाद 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव में भी उन्होंने हाथ आजमाया। लेकिन इसमें भी उन्हें नाकामी ही मिली थी। 2019 में हुए लोकसभा चुनाव में एक बार फिर जितिन प्रसाद चुनावी मैदान में उतरे। लेकिन इस बार भी उन्हें हार का सामना करना पड़ा।

Related Articles

Leave a Comment