Latest News
Home ताजा खबर बरेका के डॉ. सुजीत मल्लीक की कहानी, जो रोगियों के बने हैं साथी!

बरेका के डॉ. सुजीत मल्लीक की कहानी, जो रोगियों के बने हैं साथी!

by

कहते हैं कि इंसान अपने कर्मों से ही सम्मान और अपमान हासिल करता है। इंसान अपने कर्मों के चलते ही दुनिया में याद रखा जाता है। अच्छे कार्य किसी भी व्यक्ति को भगवान बना देता है। तो बुरे कर्मों से व्यक्ति इंसान कहलाने के लायक भी नहीं रहता है। कोरोना महामारी ने इन बातों को काफी हद तक और भी स्पष्ट कर दिया है। इस खौफनाक दौर में लगभग सभी मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारे और चर्च बंद हैं। जो खुले हैं वो भी अस्थाई रूप से अस्पताल बन चुके हैं। इन अस्पतालों में को चिकित्सक और अन्य चिकित्साकर्मी काम कर रहे हैं, वो भी किसी ईश्वर से कम नहीं। या कहें कि सबसे उच्च कोटि के मानव हैं।

चिकत्सा क्षेत्र से जुड़ा हर व्यक्ति इस संक्रमण काल में अपने जान की परवाह ना करते हुए लोगों की सेवा में जुटा हुआ है। इन्हीं में से एक हैं बनारस रेल इंजन कारखाना के प्रमुख मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुजीत मल्लीक। बरेका महाप्रबंधक अंजली गोयल के नेतृत्व में दिन-रात लगातार 15-16 घंटे ड्यूटी करने के बावजूद डॉ. सुजीत मल्लिक कभी थके हुए नहीं लगते हैं। उनके माथे पर कभी शिकन देखने को नहीं मिलती है।

अपने अधीनस्थ चिकित्सकों और चिकित्सा कर्मियों के अस्वस्थ हो जाने पर भी अपेक्षाकृत कम सहयोगियों के साथ डॉ. मल्लिक अपने‌ कर्तव्य पर डटे रहते हैं। मरीजों की देखभाल हो या प्रशासनिक कार्य, सहकर्मियों की पीड़ा हो या फिर सार्वजनिक व्यवस्था। सभी मोर्चों पर डॉ. मल्लीक पूरी सजगता के साथ करते रहते हैं। गौरतलब है कि बरेका केंद्रीय चिकित्सालय को कोविड सेंटर बना दिया गया है। जिसके कारण डॉ. मल्लिक की जिम्मेदारियां भी बढ़ गई हैं। बाहरी कोविड मरीजों की देखभाल और बरेका के नियमित लोगों के लिए अलग से अस्थाई चिकित्सालय की व्यवस्था करने की जिम्मेवारी डाॅ. मल्लिक और उनकी टीम के ही कंधों पर है।

18 वर्ष से अधिक के बरेका कर्मियों, उनके परिजनों एवं बाहरी व्यक्तियों का टीकाकरण, नियमित एवं आकस्मिक मरीजों की चिकित्सा में डॉ. मल्लीक जी-जान से जुटे रहते हैं। समर्पित सेवाभाव और चिकित्सक के फ़र्ज़ को ऊंचाई प्रदान करने वाले डॉ. सुजीत मल्लिक के जज्बे और हौसले से हर बरेका कर्मी प्रेरित है। महाप्रबंधक अंजली गोयल के द्वारा प्रत्येक स्तर पर मिले प्रशासनिक सहयोग से बेहद उत्साहित डॉ. मल्लीक सभी को टीकाकरण करवाने, मास्क लगाने, दो गज की दूरी का पालन करने, समय-समय पर हाथ धोने, अपने सामानों को सीनेटाइज करने का सुझाव देते हैं। साथ ही यह भी कहते हैं कि –
“कोरोना से जीतेंगे हम लड़ाई,
टीकाकरण में है सबकी भलाई।”

Related Articles

Leave a Comment