Latest News
Home कोरोना वायरस रामदेव का विवादित बयान, बोले “एलोपैथी दवाओं ने ली लाखों लोगों की जान”

रामदेव का विवादित बयान, बोले “एलोपैथी दवाओं ने ली लाखों लोगों की जान”

by Khabartakmedia

Patanjali’s RAMDEV. योग गुरु बाबा रामदेव एक बार फिर सुर्खियों में हैं। वजह पुरानी है। एक बयान। रामदेव ने एक कार्यक्रम के दौरान एक बात कही है। जिसकी वजह से विवाद पैदा हो गया है। कोरोना महामारी के दौरान लोगों की मौत पर उन्होंने टिप्पणी की है। साथ ही एलोपैथी पर सवाल खड़े किए हैं। रामदेव ने कहा है कि “लाखों लोगों की मौत एलोपैथी की दवा खाने से हुई है।” रामदेव के इस बात को लेकर बवाल कटने लगा है। लोगों ने रामदेव के गिरफ्तारी की मांग शुरू कर दी है।

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया जा रहा है। जिसमें एक कार्यक्रम के दौरान योग गुरु रामदेव बोलते नजर आ रहे हैं। उनके साथ मंच पर 5-6 अन्य लोग भी बैठे हुए दिख रहे हैं। सामने एक बड़े से हॉल में 60-70 लोग दरी बिछाए बैठे हैं। जो कि योग करते हुए रामदेव की प्रवचन सुन रहे हैं।

रामदेव ने पहले एक एक करके कुछ अंग्रेजी दवाओं का नाम गिनाया। फिर आगे चलकर एलोपैथी को लाखों लोगों के मौत का जिम्मेदार बता दिया। रामदेव ने कहा कि “एलोपैथी एक ऐसी स्टुपिड और दिवालिया साइंस है कि पहले इनकी क्लोरोक्विन फेल हुई। फिर रेमेडेसिविर फेल हुई, फिर इनके एंटीबायोटिक दवाएं फेल हो गए। इनके स्टेरॉइड फेल हुए। कल प्लाजमा थेरेपी पर भी बैन लग गया। फैबिफ्लू भी इनका फेल हो गया। लोग कह रहे हैं ये तमाशा हो क्या रहा है।”

रामदेव ने कहा कि “बुखार की कोई भी दवा इनकी कोरोना पर काम नहीं कर रही है। क्योंकि आप (इन दवाओं से) शरीर का तापमान तो उतार दे रहे हैं। लेकिन तापमान जिस भी कारण से उसके लिए तो कोई दवाई है नहीं तुम्हारे पास।”

हो सकता है विवाद:

इसके बाद आता है रामदेव के बयान का विवादित हिस्सा। रामदेव कहते हैं कि “मैं बहुत बड़ी बात कह रहा हूं। हो सकता है बहुत से लोग इस पर विवाद खड़ा करें।”
रामदेव ने कहा कि “लाखों लोगों की मौत एलोपैथी की दवा खाने से हुई है। जितने लोगों की मौत अस्पताल न जाने के कारण से हुई, ऑक्सीजन ना मिलने के कारण से हुई है। उससे ज्यादा लोगों की मौत ऑक्सीजन मिलने के बावजूद हुई है। एलोपैथी दवा मिलने के बावजूद हुई है। स्टेरॉइड की वजह से हुई है। इसलिए लाखों लोगों की मौत एलोपैथी के कारण हुई है।”

हालांकि इस वीडियो के अंतिम हिस्से में रामदेव कहते हैं कि एलोपैथी साइंस पूरी तरह खराब नहीं है। साइंस एंड टेक्नोलॉजी का विरोध नहीं है।

उठते सवाल:

रामदेव के इस बयान से एक बार फिर कई सवाल जिंदा हो गए हैं। रामदेव को अपने बयान में यह बताना चाहिए था कि किस शोध के आधार पर उन्होंने ये दावा किया? क्या कोई आंकड़ा है कि इस महामारी में एलोपैथी की दवा खाने के कारण कितने लोगों की मौत हुई है? क्या सरकार ने या फिर रामदेव ने अपने स्तर पर इस बारे में कोई रिसर्च किया है? या फिर उन्होंने पतंजलि की दवाओं को बढ़ावा देने के लिए एलोपैथी को लाखों लोगों के मौत का कारण बता दिया?

अगर सचमुच एलोपैथी के चलते लाखों लोग मर रहे हैं तो सरकार इस पर ठोस कदम क्यों नहीं उठा रही है? यदि रामदेव की बातें हवाहवाई है तो फिर सरकार कार्रवाई क्यों नहीं कर रही है? ऐसी महामारी के दौर में इस तरह के दावे यदि गलत हैं तो वो जानलेवा है।

Related Articles

1 comment

IMA ने PM MODI को लिखी चिट्ठी, रामदेव पर दर्ज किया जाए देशद्रोह का मुकदमा! - KHABAR TAK MEDIA May 26, 2021 - 12:24 pm

[…] रामदेव का विवादित बयान, बोले “एलोपैथ… […]

Reply

Leave a Comment