Latest News
Home ताजा खबर कोविड को देखते हुए राहुल गांधी ने रद्द की सभी रैलियां, क्या ये कदम उठाएंगे प्रधानमंत्री?

कोविड को देखते हुए राहुल गांधी ने रद्द की सभी रैलियां, क्या ये कदम उठाएंगे प्रधानमंत्री?

by Khabartakmedia

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (कांग्रेस) के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड सांसद राहुल गांधी ने अपनी रैलियां रद्द कर दी है। राहुल गांधी ने पश्चिम बंगाल में कोई भी रैली नहीं करने का फैसला लिया है। यह कदम कोविड-19 महामारी को देखते हुए उठाया गया है। उन्होंने रविवार को एक ट्वीट कर यह जानकारी दी है। राहुल गांधी ने साफ कहा है कि कोविड को देखते हुए पश्चिम बंगाल में सभी रैलियां रद्द की जा रही है।

राहुल गांधी ने दूसरे भी नेताओं से ऐसा करने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि ऐसी भयानक स्थिति में बड़ी बड़ी जनसभाएं करना ठीक नहीं है। राहुल गांधी ने अपनी ट्वीट में लिखा है कि “कोविड की स्थिति को देखते हुए, मैं पश्चिम बंगाल में अपनी सभी सार्वजनिक रैलियों को स्थगित कर रहा हूँ।” उन्होंने आगे लिखा है कि “मैं सभी राजनीतिक नेताओं को सलाह दूंगा कि मौजूदा परिस्थितियों में बड़ी सार्वजनिक रैलियों के आयोजन के नतीजों पर गहराई से विचार करें।”

क्या अब मानेंगे प्रधानमंत्री?

राहुल गांधी के इस पहल की हर कोई सराहना कर रहा है। हालांकि इस कदम को बहुत पहले उठाया जाना चाहिए था। लेकिन अभी भी यह फैसला बेहद जरूरी है। पश्चिम बंगाल में तीन चरणों का चुनाव बचा हुआ है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह बंगाल में ताबड़तोड़ रैलियां और रोड शो कर रहे हैं। लाखों की भीड़ जुटाकर भाषणबाजी हो रही है। शाम को कोविड की समीक्षा बैठक में दो गज दूरी के नियम की बात करने वाले प्रधानमंत्री दिनभर लाखों की भीड़ के बीच भाषण देते हैं।

इस भीड़ का प्रधानमंत्री को काफी गुमान भी है। लेकिन इस गुमान की कीमत बेहद महंगी है। इसके बदले हजारों लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ रहा है। अब सवाल ये है कि क्या प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपनी रैलियां रद्द करेंगे? क्या राहुल गांधी के इस पहल पर पीएम विचार करेंगे? क्या कोविड का ख्याल अब भी उनके दिमाग में आएगा? या फिर चुनावी जीत के लिए प्रधानमंत्री अब भी लोगों की जान ख़तरे में डालेंगे? देखना होगा कि ममता बनर्जी सरीखे नेताओं पर राहुल गांधी के इस कदम का क्या असर पड़ता है? बहरहाल भारत इस आफत में बुरी तरह फंस चुका है। जहां से निकलने की राह बेहद मुश्किल है।

Related Articles

Leave a Comment