Latest News
Home प्रादेशिक खबरेंउत्तराखंड धामी के हाथ में उत्तराखंड धाम की कमान, परिस्थितियों के मुख्यमंत्री बने पुष्कर सिंह!

धामी के हाथ में उत्तराखंड धाम की कमान, परिस्थितियों के मुख्यमंत्री बने पुष्कर सिंह!

by
बीच में उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी हैं। सफेद मास्क लगाए हुए पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत हैं।

Uttarakhand Politics. उत्तराखंड को पिछले चार महीने में ही तीसरा मुख्यमंत्री नसीब हो गया है। राज्य में पैदा हुई सियासी परिस्थितियों के चलते भारतीय जनता पार्टी (BJP) को एक बार फिर मुख्यमंत्री बदलना पड़ा है। उत्तराखंड को नए मुख्यमंत्री के तौर पर अब पुष्कर सिंह धामी मिल चुके हैं। पुष्कर सिंह धामी शनिवार यानी आज ही मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे।

बीते शुक्रवार यानी 2 जुलाई को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद दिल्ली से कृषि मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता नरेंद्र सिंह तोमर उत्तराखंड पहुंचे। नरेंद्र सिंह तोमर की मौजूदगी में भाजपा विधायकों की बैठक हुई। जिसके बाद पुष्कर सिंह धामी को उत्तराखंड विधायक दल का नेता चुना गया।

बता दें कि पुष्कर सिंह धामी उत्तराखंड के खटीमा से विधायक हैं। वो अगले कुछ महीनों तक के लिए राज्य के मुख्यमंत्री बनाए गए हैं। अगले कुछ महीनों तक क्यों? इसलिए कि कुछ ही महीने बाद उत्तराखंड में विधानसभा के चुनाव होने हैं।

क्यों हुआ बदलाव:

बहुत समय नहीं गुजरा है जब उत्तराखंड में मुख्यमंत्री बदले गए थे। मार्च महीने में ही इस कुर्सी का नेता बदला गया था। भाजपा ने यहां चुनाव जीतने के बाद त्रिवेंद्र सिंह रावत को मुख्यमंत्री बनाया था। लेकिन अपने कई फैसलों की वजह से भाजपा आलाकमान त्रिवेंद्र सिंह रावत से नाराज चल रही थी। बताया जाता है कि इसी वजह से त्रिवेंद्र रावत को मुख्यमंत्री पद से हटा दिया गया।

त्रिवेंद्र सिंह रावत की जगह पर नए मुख्यमंत्री बने तीरथ सिंह रावत। तीरथ सिंह रावत गढ़वाल से सांसद हैं। 10 मार्च, 2021 को उन्होंने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री की शपथ ली थी। संवैधानिक प्रावधानों के मुताबिक रावत को अगले छह महीने के भीतर विधानसभा का सदस्य बनना था। इसके लिए अंतिम तारीख थी 10 सितंबर।

यानी कि मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बने रहने के लिए तीरथ सिंह रावत को 10 सितंबर तक विधायक बनना जरूरी था। उत्तराखंड में विधानसभा की दो सीटें खाली हैं। माना जा रहा था कि इन्हीं में से किसी एक सीट से तीरथ चुनाव लड़कर विधायक बनना चाहेंगे। उम्मीद थी कि चुनाव आयोग इसके लिए उपचुनाव कराएगा।

गौरतलब है कि अगले साल मार्च महीने तक ही उत्तराखंड में विधानसभा के चुनाव होने हैं। इसलिए उपचुनाव होने के आसार नहीं हैं। जब उपचुनाव नहीं होगा तो 10 सितंबर तक तीरथ विधायक भी नहीं बन पाएंगे। इसलिए उन्हें सीएम की कुर्सी त्यागनी पड़ी है।

इन्हीं कारणों से भाजपा को अपना मुख्यमंत्री बदलना पड़ा है। अब आगामी विधानसभा चुनाव तक पुष्कर सिंह धामी उत्तराखंड के मुख्यमंत्री बनाए गए हैं।

Related Articles

Leave a Comment