Latest News
Home शिक्षाविश्वविद्यालय काशी विद्यापीठ: छात्रों के धरना-प्रदर्शन और शिक्षक सत्याग्रह पर क्या सोचते हैं नए कुलपति प्रो. त्यागी?

काशी विद्यापीठ: छात्रों के धरना-प्रदर्शन और शिक्षक सत्याग्रह पर क्या सोचते हैं नए कुलपति प्रो. त्यागी?

by
MGKVP Vice Chancellor Pro. Anand Kumar Tyagi

हात्मा गांधी काशी विद्यापीठ विश्वविद्यालय में नियमित कुलपति की नियुक्ति हो चुकी है। विश्वविद्यालय की कुलाधिपति और उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने कुलपति पद के लिए प्रो. आनंद कुमार त्यागी के नाम पर मुहर लगा दी है। यही नहीं बीते बुधवार (23 जून, 2021) को प्रो. त्यागी ने पदभार भी संभाल लिया। अगले तीन सालों तक काशी विद्यापीठ विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आनंद कुमार त्यागी ही रहेंगे।

काशी विद्यापीठ अक्सर धरना-प्रदर्शनों की वजह से सुर्खियों में रहता है। कभी फीस वृद्धि, तो कभी प्रयोगशाला, तो कभी कक्षा की समस्या को लेकर धरना-प्रदर्शन होते रहते हैं। ये महज कुछ उदाहरण ही हैं। लेकिन काशी विद्यापीठ में कई गंभीर और बड़े मसलों को लेकर भी हफ्तों-हफ्तों तक छात्र नेताओं का धरना चलते रहता है।

ज्यादा वक्त नहीं गुजरा है जब विश्वविद्यालय के शिक्षकों ने भी सत्याग्रह किया था। कोरोना महामारी के दौरान ही शिक्षक सत्याग्रह चला था। वो भी दो-चार दिन नहीं बल्कि तीन हफ्तों से भी ज्यादा दिन तक।

क्या बोले कुलपति:

काशी विद्यापीठ में अपना पदभार ग्रहण करने के बाद प्रो. आनंद कुमार त्यागी ने सबसे पहला इंटरव्यू खबर तक Media को दिया। इस इंटरव्यू में हमने उनसे काशी विद्यापीठ में होने वाले धरना-प्रदर्शनों के सिलसिले में सवाल किया। हमने जानना चाहा कि विश्वविद्यालय में होने वाले इन विरोध – प्रदर्शनों पर उनका नजरिया क्या है? सुनिए इस सवाल के जवाब में क्या बोले प्रो. आनंद कुमार त्यागी:

Related Articles

Leave a Comment