Latest News
Home प्रादेशिक खबरेंबिहार बिहार के Cycle Girl ज्योति का सहारा बनेंगी प्रियंका गांधी, छिन गया पिता का साया!

बिहार के Cycle Girl ज्योति का सहारा बनेंगी प्रियंका गांधी, छिन गया पिता का साया!

by Khabartakmedia
cycle girl jyoti paswan

बिहार की Cycle Girl ज्योति पासवान इन दिनों सुर्खियों में हैं। वजह दुखद है। ज्योति के पिता मोहन पासवान की मृत्यु हो गई है। पिता के निधन के बाद ज्योति को सदमा सा लगा है। कई तरह की चिंताएं उन्हें घेरे हुए हैं। इस बीच ज्योति से कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बातचीत की है।

प्रियंका गांधी वाड्रा ने ज्योति से फोन पर बात की। उनका ढाढस बंधाया। उन्होंने ज्योति से वादा किया है कि वो उनके पढ़ाई लिखाई का खर्चा उठाएंगी। प्रियंका गांधी ने ज्योति को दिलासा दिया है कि इस दुख की घड़ी में वो उनके साथ हैं। उन्होंने फोन पर कहा है कि कोई भी जरूरत हो तो ज्योति किसी भी कांग्रेसी से बेहिचक सहायता ले सकती हैं।

ज्योति से मिलेंगी प्रियंका:

फोन पर ज्योति ने प्रियंका गांधी से कोई मदद नहीं मांगी। लेकिन ज्योति ने उनसे मिलने की इच्छा जताई। इस पर प्रियंका गांधी ने वादा किया है कि कोरोना खत्म होने के बाद वो ज्योति से जरूर मिलेंगी। उन्होंने दिल्ली में मिलने की बात कही है।

कांग्रेस नेता मशकूल अहमद उस्मानी ज्योति पासवान के घर पहुंचे। मशकूल अहमद उस्मानी ने ज्योति को एक संवेदना पत्र सौंपा। जो कि प्रियंका गांधी की ओर से भेजवाई गई थी। मशकूल अहमद ने ज्योति पासवान से कहा कि “प्रियंका दीदी ने कहा है कि हम तुम्हारे साथ हैं, किसी भी तरह की चिंता मत करना।”

गुरुग्राम से दरभंगा तक चलाई साइकिल:

बता दें कि ज्योति पासवान बिहार के मुजफ्फरपुर की रहने वाली हैं। पहली बार 2020 यानी कि पिछले साल ज्योति का नाम सबके सामने आया था। बात देशव्यापी सम्पूर्ण तालाबंदी के दौरान की है। पिछले साल Covid-19 महामारी के चलते पूरे देश में तालाबंदी कर दी गई थी। सब कुछ बंद था।

इसी बीच ज्योति पासवान अपने पिता को साइकिल पर बैठकर गुरुग्राम से रवाना हो गईं। ज्योति के पिता का नाम मोहन पासवान है। उनकी तबियत खराब थी। ज्योति ने अपने पिता को साइकिल के पीछे बैठाया और निकल पड़ीं बिहार की ओर। लगातार आठ दिन तक साइकिल चलाने के बाद ज्योति बिहार के दरभंगा पहुंचीं।

ज्योति के इस कारनामे पर देश और दुनिया में शोर मच गया था। लेकिन इस साल तालाबंदी के दौरान उनके पिता की मृत्यु हो गई। मोहन पासवान की हृदयाघात से निधन हो गया।

Related Articles

Leave a Comment