Latest News
Home ताजा खबर बंगाल चुनाव के बाद 20 बार बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, आज फिर आई उछाल!

बंगाल चुनाव के बाद 20 बार बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, आज फिर आई उछाल!

by Khabartakmedia
PETROL-DIESEL PRICE HIKE

Petrol-Diesel Price Hike. 7 जून, 2021. यानी कि जून महीने का सातवां दिन। इन सात दिनों में पेट्रोल और डीजल के दाम कुल चार बार बढ़ चुके हैं। सोमवार यानी आज भी पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी देखने को मिली है। आज तेल के दामों में 27-29 पैसे की तेजी आई है। आज की ताजा वृद्धि के बाद मुंबई में पेट्रोल की कीमत हो गई है 101.57 रुपए प्रति लीटर। जबकि दिल्ली में 95.37 रुपए प्रति लीटर।

मुंबई में आज डीजल का दाम है 93.64 रुपए प्रति लीटर। जबकि दिल्ली में एक लीटर डीजल की कीमत 86.28 पैसे हो चुके हैं। कोलकाता में एक लीटर पेट्रोल 95.34 रुपए में मिल रही है। तो चेन्नई में 96.77 रुपए प्रति लीटर। इन दोनों ही महानगरों में डीजल की कीमत भी क्रमशः 89.12 रुपए और 90.97 रुपए प्रति लीटर है।

महामारी में महंगाई की मार:

कोरोना महामारी ने देश की अर्थव्यवस्था चौपट कर दी है। आम लोगों की आर्थिक हालत बद से बदतर हो चुकी है। करोड़ों लोग बेरोजगार हो चुके हैं। धंधा पानी ठप पड़ा है। दुकानें बंद हो रही हैं। दुकानदार सड़क पर आ गए हैं। रोज कमाने खाने वाले दो वक्त की रोटी भी नहीं जुटा पा रहे हैं। मध्यम वर्गीय परिवार स्कूल के फीस भरने में ही परेशान है।

ऐसे में महंगाई की मार ने हर किसी का हाल खस्ता कर दिया है। पेट्रोल डीजल से लेकर सरसो तेल तक के दाम अभूतपूर्व रूप से महंगे हो रहे हैं।

बंगाल चुनाव के पहले और बाद में:

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों के पहले पेट्रोल और डीजल की कीमतें हर दिन बढ़ रही थीं। लेकिन जैसे ही चुनाव नजदीक आया तेल के दाम बढ़ने बंद हो गए। पूरे चुनाव तेल के दामों में कोई खास बढ़ोतरी नहीं देखी गई।

2 मई को पश्चिम बंगाल चुनावों की मतगणना हुई। इसके ठीक एक दिन बाद यानी 4 मई को पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़े। उसके बाद तेल की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं। कभी हर रोज तो कभी दो दिन पर। 4 मई के बाद से अब तक कुल 21 बार तेल के दाम बढ़ चुके हैं।

क्या ये महज एक इत्तेफाक है कि चुनाव के दिनों में महंगाई बढ़नी बंद हो जाती है? चुनाव खत्म होते ही महंगाई को पर लग जाते हैं? हालांकि इसी बीच केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन ने इंडिया टुडे पत्रिका को दिए एक इंटरव्यू में कहा है कि तेल के दामों का बढ़ना और घटना पूरी तरह बाजार पर निर्भर करता है। इसमें सरकार की कोई भूमिका नहीं है।

Related Articles

Leave a Comment