Latest News
Home ताजा खबर सरदार पटेल स्टेडियम का नाम बदलकर नरेंद्र मोदी स्टेडियम रखा गया, है ये सरदार का अपमान?

सरदार पटेल स्टेडियम का नाम बदलकर नरेंद्र मोदी स्टेडियम रखा गया, है ये सरदार का अपमान?

by Khabartakmedia

गुजरात के अहमदाबाद के मोटेरा में बुधवार को दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का उद्घाटन हुआ। आज इस स्टेडियम में भारत और इंग्लैंड के बीच टेस्ट मैच शुरू हुआ है। इस स्टेडियम को आमतौर पर मोटेरा स्टेडियम के नाम से जाना जाता है। लेकिन इसका वास्तविक नाम सरदार पटेल स्टेडियम था। जिसे 1983 में सरदार वल्लभ भाई पटेल की याद में बनवाया गया था।

2016 में इस स्टेडियम के पुनर्निर्माण के लिए गिराया गया। उसके बाद इसे दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम के रूप में बनाया गया। जहां एक लाख दस हजार दर्शकों के बैठने की व्यवस्था है। आज इस स्टेडियम का उद्घाटन भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया। इस मौके पर गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद रहे।

सरदार पटेल स्टेडियम का नाम अब बदल दिया गया है। इसे भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम पर कर दिया गया है। नरेंद्र मोदी स्टेडियम। माने “सरदार पटेल स्टेडियम” अब “नरेंद्र मोदी स्टेडियम” हो गया है। ऐसे में सवाल उठने लगे हैं। साथ ही इसका विरोध भी हो रहा है। कहा जा रहा है कि क्या ये सरदार वल्लभ भाई पटेल का अपमान नहीं है? क्या सरदार पटेल के नाम की यह बदनामी नहीं है?

जब कोई नया निर्माण कार्य होता है तब अक्सर उसे किसी नेता के नाम पर रखा जाता है। भारत में इसकी परम्परा भी रही है। लेकिन एक स्टेडियम जिसे किसी महापुरुष के नाम से जाना जाता हो, उसका नाम बदलकर वर्तमान समय के किसी नेता के नाम पर रखना कहा तक जायज है? इस कदम का क्या संदेश निकाला जाए?

गौरतलब है कि जब इसके पुनर्निर्माण का काम शुरू हो रहा था तब गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी थे। मोदी के पहल के बाद ही इसे दोबारा बनाने का काम शुरू हुआ। लेकिन क्या इस आधार पर सरदार पटेल स्टेडियम का नाम नरेंद्र मोदी स्टेडियम कर दिया जाना चाहिए था? गुजरात से कांग्रेस के नेता हार्दिक पटेल ने इसपर गुस्सा जाहिर किया है। बता दें कि हार्दिक पटेल 2011 में सरदार पटेल समूह के हिस्सा थे।


Related Articles

Leave a Comment