Latest News
Home ताजा खबर NDTV की पत्रकार निधी राजदान के साथ साइबर धोखा, हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से जुड़ा है मामला!

NDTV की पत्रकार निधी राजदान के साथ साइबर धोखा, हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से जुड़ा है मामला!

by Khabartakmedia

एनडीटीवी की जानीमानी पूर्व पत्रकार निधी राजदान के साथ एक चौंका देने वाला ऑनलाइन फर्जीवाड़ा हुआ है। जो भी इस घटना के बारे सुन या पढ़ रहा है उसकी भौंहें खड़ी हो जा रही हैं। निधी राजदान ने साल 2020 में एनडीटीवी के साथ अपना 21 साल पूरा किया। इतने समय तक एनडीटीवी में काम करने के बाद जून, 2020 में निधी राजदान ने एनडीटीवी से इस्तीफा दे दिया। इस्तीफा यूं ही नहीं दिया था। उन्हें हार्वर्ड विश्वविद्यालय से पत्रकारिता विभाग में एसोसिएट प्रोफेसर की नौकरी ऑफर हुई थी। तब निधी राजदान ने एनडीटीवी को अलविदा कहा।

निधी राजदान को ईमेल के जरिए हार्वर्ड यूनिवर्सिटी का आमंत्रण मिला। उनसे उनके डॉक्यूमेंट मांगे गए और भी बहुत सी जानकारियां। निधी राजदान ने सब दे दिया। उनसे कहा गया कि उन्हें सितम्बर महीने में हार्वर्ड आना होगा। लेकिन फिर कहा गया कि नहीं, कोरोना महामारी की वजह से आपको जनवरी, 2021 में आना होगा। निधी राजदान को दाल में कुछ काला लगा तो उन्होंने हार्वर्ड के उच्च अधिकारियों से संपर्क किया। हार्वर्ड में उनसे इस पूरी बातचीत का विवरण मांगा गया। उन्होंने हार्वर्ड को सौंप दिया। अंत में पता चला कि हार्वर्ड की ओर से उन्हें किसी पद के लिए नौकरी ऑफर नहीं भेजी गई थी। निधी राजदान के साथ भयानक ऑनलाइन धोखा हुआ है।
निधी राजदान ने ये बातें ट्विटर पर लिखीं। उन्होंने खुद ही ये जानकारी साझा की। गत शुक्रवार की शाम ये बातें सामने आई थीं। अब निधी राजदान ने पुलिस में इस धोखाधड़ी की शिकायत की है।

Related Articles

Leave a Comment