Latest News
Home ताजा खबर ये है राज्यमंत्री की रौब, टीकाकरण कराने आए व्यक्ति को मारने दौड़े रविन्द्र रविंद्र जायसवाल!

ये है राज्यमंत्री की रौब, टीकाकरण कराने आए व्यक्ति को मारने दौड़े रविन्द्र रविंद्र जायसवाल!

by Khabartakmedia

उत्तर प्रदेश सरकार में राज्यमंत्री और वाराणसी उत्तरी से भाजपा विधायक रविन्द्र जायसवाल की एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही। वीडियो में रविन्द्र जायसवाल पहले एक आदमी को डांटते फटकारते दिखते हैं। फिर उसी आदमी को रखेदने लगते हैं। लेकिन इतना सब करके भी राज्यमंत्री का गुस्सा शांत नहीं होता है। रविन्द्र जायसवाल उसे मारने के लिए भिड़ जाते हैं। हाथ उठाते हैं, लेकिन उनके साथ मौजूद समर्थक उन्हें रोक लेते हैं।

आखिर किस बात पर सूबे के राज्यमंत्री को इतना गुस्सा आ गया कि एक आम आदमी को मारने दौड़ पड़े? दरअसल यह पूरा मामला शिवपुर का है। शिवपुर के टीकाकरण केंद्र पर यह पूरी घटना घटी है। इस जगह पर रविवार की दोपहर 12 बजे से टीकाकरण की शुरुआत होनी थी। टीकाकरण की शुरुआत रविन्द्र जायसवाल की मौजूदगी में होनी थी। लेकिन क्षेत्र के विधायक और योगी आदित्यनाथ सरकार में राज्यमंत्री रविन्द्र जायसवाल यहां देरी से पहुंचे। देरी से पहुंचने के कारण टीकाकरण की शुरुआत भी देरी से ही हुई।

चिलचिलाती धूप में लोग सिर्फ इसलिए खड़े रहे क्योंकि कैबिनेट मंत्री को आने में देर हुआ। इसी बीच जब रविन्द्र जायसवाल इस टीकाकरण केंद्र पर पहुंचे तब टीका लगवाने आए एक शख्स ने उनसे सवाल कर दिया। व्यक्ति ने उनसे हुई इस देरी पर सवाल किया। जिसके बाद कैबिनेट मंत्री ने आपा खो दिया। उन्होंने न आव देखा न ताव और तुरंत अपने पद की ऐंठन आम आदमी को दिखा दिया। पहले उन्होंने उस व्यक्ति को रखेदा और फिर मारने भी पड़ गए। लेकिन समर्थकों ने बीच में आकर उनका गुस्सा शांत कराया।

सवाल से समस्या:

गौरतलब है कि राज्यमंत्री रविन्द्र जयसवाल को सिर्फ इस बात पर गुस्सा आ गया कि एक आम आदमी ने उनसे सवाल क्यों पूछ लिया? सवाल से ही सारी नफरत है। क्योंकि सवाल ही तो मंत्रियों और नेताओं की रौब का हिसाब लेती है। इसी सवाल का जवाब तो देने से तो नेता बचते हैं। क्योंकि सवाल इनके असली रंग को दिखाता है। राज्यमंत्री रविन्द्र जायसवाल के लिए अपना समय कीमती है। वो जितनी चाहे देरी कर सकते हैं क्योंकि वो विधायक और राज्यमंत्री हैं। लेकिन कोई उनसे सवाल ना पूछे! लोग धूप में जलते रहे लेकिन रविन्द्र जायसवाल को इसकी कोई फिक्र नहीं। लेकिन किसी ने एक वाजिब सवाल पूछ लिया तो रविन्द्र जायसवाल मरने पड़ गए।

Related Articles

Leave a Comment