Latest News
Home Uncategorizedकृषि मेघालय के राज्यपाल ने किसान आंदोलन पर केंद्र सरकार को तीखी सलाह दे दी!

मेघालय के राज्यपाल ने किसान आंदोलन पर केंद्र सरकार को तीखी सलाह दे दी!

by Khabartakmedia

मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने रविवार को किसान आंदोलन पर बड़ा बयान दे दिया। उनके इस ताजातरीन बयान ने खूब खबर बनाई है। लंबे समय से चल रहे किसान आंदोलन पर राज्यपाल ने केंद्र सरकार को धीमी स्वर में आड़े हाथों लिया। उन्होंने केंद्र सरकार से अपील की कि बातचीत के जरिए जल्द से जल्द इस मसले को सुलझाना चाहिए।

सत्यपाल मलिक ने कहा कि “किसी भी मुद्दे को दबाना कोई समाधान नहीं है। ऐसा करने से कुछ समय के लिए ये दब जाएगा। लेकिन दुबारा और भी बड़ा मुद्दा बनकर उभरेगा।” उन्होंने कहा कि “मैं कृषि क्षेत्र से ही राजनीति में आया हूं इसलिए किसानों की समस्या को समझ रहा हूं। सरकार को आगे आकर किसानों से बात करनी चाहिए। यही राष्ट्रहित में होगा।” राज्यपाल ने कहा कि वे इसपर सरकार से बात करेंगे।

राज्यपाल ने 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली के दौरान दिल्ली में हुए हिंसा पर कहा कि उन्हें पूरा विश्वास है कि कानून व्यवस्था बिगाड़ने वाले लोग किसान नहीं थे। उन्होंने इस तरह से एक गंभीर टिप्पणी किसान आंदोलन पर कर दी है। बता दें कि केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसान भारत भर में आंदोलन कर रहे हैं। किसानों की मांग है कि सरकार तीनों कृषि कानून वापस ले। इसी बाबत सत्यपाल मलिक ने कहा है कि केंद्र सरकार के हाथ में सब कुछ है वे चाहें तो इस समस्या को हल कर सकते हैं।

गौरतलब है कि दो महीनों से भी अधिक समय से किसान आंदोलन चल रहा है। हालांकि गणतंत्र दिवस की ट्रैक्टर रैली में हुई हिंसा के बाद ऐसा लगा कि आंदोलन बदनाम हो गया। कयास लगाए जा रहे थे कि अब किसान अपना आंदोलन वापस ले लेंगे। कई किसान संगठनों ने खुद को इस लड़ाई से अलग भी कर लिया। प्रशासन सख्त रुख में आ गया और गतिरोध खत्म कराने के लिए हथकंडे अपनाने लगा। लेकिन अचानक किसान नेता राकेश टिकैत ने एक भावनात्मक अपील कर दी। मीडिया से बात करते हुए टिकैत रो पड़े। राकेश टिकैत के इन आंसुओं ने मानो किसान आंदोलन के विशाल वृक्ष को नए सिरे से सींच दिया। आंदोलन एक बार फिर टिक गया है। हालांकि ऐसी उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही केंद्र सरकार और किसान नेताओं के बीच वार्ता शुरू हो सकती है।

Related Articles

Leave a Comment