Latest News
Home प्रादेशिक खबरेंउत्तर प्रदेश उत्तर प्रदेश: पुलवामा के शहीद का परिवार धरने पर, अब तक नहीं हुई आर्थिक मदद?

उत्तर प्रदेश: पुलवामा के शहीद का परिवार धरने पर, अब तक नहीं हुई आर्थिक मदद?

by
Martyr family on protest (Photo: Amar Ujala)

2019 का साल था। फरवरी का महीना। 14 तारीख। उस शाम होते होते पूरे देश में सन्नाटा पसर गया था। दुख, वियोग, विलाप, क्रोध और बदले की आग में पूरा देश धधक रहा था। क्योंकि जम्मू कश्मीर के पुलवामा से एक आतंकी हमले की एक खबर आई थी। उस दिन पुलवामा में एक आतंकवादी ने जवानों के काफिले पर आत्मघाती हमला कर दिया था। जिसमें 42 जवान शहीद हो गए थे। इन्हीं शहीदों में से एक का परिवार उत्तर प्रदेश के आगरा में पिछले दो दिनों से धरने पर बैठा है।

पुलवामा हमले में देश कई अलग अलग राज्यों से आए जवान शहीद हो गए थे। इन्हीं में से एक थे कौशल किशोर रावत। कौशल किशोर रावत की भी मृत्यु पुलवामा हमले में हो गई थी। शहीद कौशल किशोर रावत का परिवार पिछले दो दिनों से आगरा के कहरई गांव में धरने पर बैठा है।

शहीद के परिवार का कहना है कि दो साल बीत जाने के बाद भी उन्हें आर्थिक मदद नहीं मिली है। शहीद कौशल किशोर की पत्नी ने कहा है कि आर्थिक सहयोग के लिए शिक्षा विभाग, पुलिस और विकास कर्मियों ने अपने एक दिन की तनख्वाह राशि दान की थी। बाद में ये पैसा मुख्यमंत्री राहत कोष में चला गया।

उन्होंने आरोप लगाया है कि पिछले दो सालों से परिवार जिलाधिकारी और मुख्यमंत्री के कार्यालय का चक्कर लगा रहा है। लेकिन कोई सुनवाई नहीं कर रहा है। और तो और अब तक गांव में बने स्मारक स्थल पर शहीद कौशल किशोर रावत की प्रतिमा का अनावरण तक नहीं हुआ है।

Related Articles

Leave a Comment