Latest News
Home ताजा खबर आज रात 12 बजे के बाद मंडुआडीह रेलवे स्टेशन हो जाएगा बनारस, कल से मिलेगी टिकट

आज रात 12 बजे के बाद मंडुआडीह रेलवे स्टेशन हो जाएगा बनारस, कल से मिलेगी टिकट

by
मंडुआडीह स्टेशन का नाम बदलकर बनारस रखा गया

15 जुलाई से मंडुआडीह रेलवे स्टेशन का नाम बनारस हो जाएगा। कल से इस रेलवे स्टेशन पर बनारस के नाम से ही टिकट भी जारी की जाएगी। मंडुआडीह नाम अब इतिहास के पन्नों में शुमार होने की दहलीज पर खड़ा है। रेलवे बोर्ड की ओर से नाम बदलने को लेकर अंतिम अनुमति मिल चुकी है। कल के बाद यह स्टेशन बनारस के नाम से जाना जाएगा। स्टेशन के हर बोर्ड पर नाम बदलकर बनारस लिख दिया गया है।

इस रेलवे स्टेशन का हिन्दी नाम “बनारस” होगा। अंग्रेजी में “BANARAS” लिखा जाएगा। जबकि इसका स्टेशन कोड होगा “BSBS”. साथ की काशी के विद्वानों की मांग पर स्टेशन की नाम पट्टिका पर इसे संस्कृत में “बनारसः” लिखा गया है।

बनारस स्टेशन पर लगा एक बोर्ड

बुधवार रात 12 बजे (15 जुलाई,2021) से इस स्टेशन से जारी होने वाले टिकटों पर भी स्टेशन का नाम बनारस लिखा रहेगा। जबकि स्टेशन कोड BSBS अंकित होकर जारी होगा।

स्टेशन को कई तरह से एक नया स्वरूप दिया गया है। अलग अलग निर्माणों के जरिए इसका सौंदर्यीकरण किया गया है। स्टेशन में एक विशाल प्रतिक्षालय क्षेत्र, विभिन्न श्रेणियों के प्रतीक्षालय, उच्च श्रेणी यात्री विश्रामालय, एस्केलेटर सीढियां, लिफ्ट्स, फूड प्लाजा, कैफेटेरिया, वी आई पी लाउन्ज, पार्किंग, सेल्फी पॉइंट, राष्ट्रीय ध्वज, धरोहर के रूप में छोटी लाइन का इंजन, विस्तृत ग्रीन और स्वच्छ सर्कुलेटिंग एरिया, आधुनिक बुकिंग/आरक्षण कार्यालय, फूड कोर्ट आदि का निर्माण किया गया है।

स्टेशन में एसी लाउंज, गैर-एसी रिटायरिंग रूम और डॉर्मिटरी भी हैं। स्टेशन परिसर की वास्तुकला काशी की आस्था को दर्शाती है। स्टेशन के परिवेश में फव्वारे और बैठने की जगह शामिल है। इस स्टेशन को उन्नत यात्री सुविधाओं के रख-रखाव के लिए आई एस ओ सर्टिफिकेशन एवं साफ-सफाई और कुशल प्रबंधन के लिए 5 एस सर्टिफिकेशन भी प्राप्त है।

Related Articles

Leave a Comment