Latest News
Home ताजा खबर कर्मचारियों की लेटलतीफी, विद्यापीठ में छात्र नेता धरने पर

कर्मचारियों की लेटलतीफी, विद्यापीठ में छात्र नेता धरने पर

by Khabartakmedia

महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ विश्वविद्यालय में गुरुवार को कई छात्र नेता प्रशासनिक भवन के सामने धरने पर बैठ गए। विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ और छात्र एकता के समर्थन में नारे लगा रहे छात्र विश्वविद्याल में कर्मचारियों की अनियमितता को लेकर परेशान हैं।
दरअसल गुरुवार को कुछ छात्र नेता किसी कागजी काम के लिए 10:30 बजे के करीब प्रशासनिक भवन पहुंचे। लेकिन प्रशासनिक अमले का यह विशाल भवन वीरान पड़ा हुआ था और कोई कर्मचारी अपने कुर्सी पर बैठा नहीं मिला। विश्वविद्यालय में कर्मचारियों की आदत बन चुकी देर-सवेर को लेकर ये छात्र नेता धरने पर बैठ गए। छात्र नेताओं ने प्रशासनिक भवन के मुख्य द्वार को बंद कर दिया और नारेबाजी करने लगे।
छात्र नेताओं और विश्वविद्यालय के कुलनुशासक (चीफ प्रॉक्टर) के बीच बातचीत हुई। छात्र नेताओं की ओर से एक पांच सूत्री मांग पेश किया गया।

धरने पर बैठे छात्र नेता

क्या हैं पांच मांगें?

➡️ विश्वविद्यालय में कर्मचारी तय समय से आवें।
➡️ कक्षाएं नियमित व सुचारू रूप से चलाई जाए।
➡️ छात्रावास जल्द से जल्द खोली जाए।
➡️ हर संकाय में मास्क और सेनेटाइजर की व्यवस्था की जाए।
➡️ कोई भी सूचना हो विश्वविद्यालय के वेबसाइट पर अपलोड की जाए।
कुलानुशासक ने इस पांच सूत्री मांग पत्र को स्वीकार किया और जल्द कारवाई करने का आश्वासन दिया।
इस धरना में मुख्य रूप से अभिषेक सोनकर, शशांक शेखर, गणेश राय, संदीप पाल, अभय शक्ति सिंह, गौतम मिश्रा, रविन्द्र पटेल, आशीष गोश्वामी, शुभम पाल, गौतम शर्मा मौजूद रहें।

Related Articles

Leave a Comment