Latest News
Home देश वाराणसी: जानिए संस्कृति और आधुनिकता के संगम रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर के बारे में

वाराणसी: जानिए संस्कृति और आधुनिकता के संगम रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर के बारे में

by Khabartakmedia
rudraksh convention centre

RUDRAKSH CONVENTION CENTRE. वाराणसी स्मार्ट सिटी के मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल की अध्यक्षता में सोमवार को रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर का हस्तांतरण हुआ। इस वक्त वाराणसी स्मार्ट सिटी के नगर आयुक्त गौरांग राठी भी मौजूद रहे। डॉ. डी वासुदेवन (महाप्रबंधक,वाराणसी स्मार्ट सिटी) और विनय तिवारी (प्रोजेक्ट निदेशक एवं अधिशाषी अभियंता, सी.पी.डब्लू.डी.) व जीतेन्द्र सिंह (अधिशाषी अभियंता, इलेक्ट्रिकल, सी.पी.डब्लू.डी.) की अद्योहस्ताक्षरी में पूर्ण हुई।

वाराणसी स्मार्ट सिटी एवं सीपीडब्लूडी द्वारा हस्तानांतरण पत्र पर हस्ताक्षर किये गए। तथा सीपीडब्लूडी द्वारा रुद्राक्ष अंतर्राष्ट्रीय कन्वेंशन सेंटर की ड्रॉइंग्स/फ्लोर प्लान, उपस्थित उपकरणों की सूचि, अनुमोदन, परिसर की चाभियों की सूची आदि का विवरण वाराणसी स्मार्ट सिटी को सौंपा गया।
हस्तानांतरण के दौरान वाराणसी स्मार्ट सिटी से पुनीत पांडेय, सुमन रॉय, सीपीडब्लूडी से मुख्य अभियंता एण्कणे गुप्ता व फुजिता कॉर्पोरेशन से मणिकंदन जी., अरुण मिश्रा समेत अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

क्या है रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर:

2015 में हिंदुस्तान की धार्मिक व सांस्कृतिक नगरी काशी में एक अत्याधुनिक कन्वेंशन सेंटर की नींव रखी गई। इसका नाम रखा गया रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर। इसकी शुरुआत भारत और जापान की साझेदारी से हुई थी। रुद्राक्ष अंतरराष्ट्रीय कन्वेंशन सेंटर को सांस्कृतिक व आधुनिक समागमों के प्रमुख केंद्र के रूप में विकसित गया है।

संस्कृति और आधुनिकता का संगम:

वाराणसी के अलौकिक सांस्कृति भंडार, संगीत घराने व अनेक कलाओं को आधुनिकता के साथ एक संगम स्थापित कर एक मंच प्रदान करना भी रुद्राक्ष अंतरराष्ट्रीय कन्वेंशन सेंटर का मूलभूत लक्ष्य है। 186 करोड़ की लागत से तैयार रुद्राक्ष अंतरराष्ट्रीय कन्वेंशन सेंटर शिवलिंग के आकार में निर्मित है। जिसमें जापानी और भारतीय दोनों ही प्रकार की वास्तुशैलियों का संगम दिखता है।

इस कन्वेंशन सेंटर में एक साथ 1200 लोगों के बैठने की व्यवस्था है। हॉल को लोगों की संख्या के अनुरूप 2 हिस्सों में विभाजित करने की व्यवस्था है। कन्वेंशन सेंटर पूर्णतः वातुनुकुलित है। इसमें पूरे प्रबंधन को बारीकी से नियंत्रण किया जा सकता है। बड़े हॉल के अलावा 150 लोगों की क्षमता वाला एक मीटिंग हॉल भी है। जिसे सुविधानुसार दो भागों में विभाजित किया जा सकता है।

असामान्य लोगों के लिए विशेष व्यवस्था:

इसके अलावा यहां एक वीआईपी कक्ष, चार ग्रीन रूम का निर्माण किया गया है। दिव्यांगजनो की सुविधा की दृष्टि से पूरे परिसर को सुविधाजनक बनाया गया है, व सारे मापदंड जैसे रैंप, व्हीलचेयर आदि की व्यवस्था भी की गई है। रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर परिसर में जापानी शैली का गार्डन व लैंडस्केपिंग भी की गई है। पार्किंग सुविधा को सुलभ बनाने के लिए बेसमेंट में 120 गाड़ियों के पार्किंग की व्यवस्था भी की गई है।

सुरक्षा की दृष्टि से इस कन्वेंशन सेंटर में सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं। विद्युत आपूर्ति हेतु लाइन कनेक्शन के साथ-साथ सौर ऊर्जा का भी प्रबंध किया गया है। रुद्राक्ष कंवेंशन सेंटर के बाहरी हिस्से में 108 सांकेतिक रुद्राक्ष लगाए गए हैं। जो कि एल्युमिनियम के बने हैं। पूरा रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर लगभग तीन एकड़ में फैला हुआ है।

Related Articles

Leave a Comment