Latest News
Home ताजा खबर राजदीप सरदेसाई के गलत सूचना पर इंडिया टुडे ने की सख्त कार्रवाई, क्या मिली सजा?

राजदीप सरदेसाई के गलत सूचना पर इंडिया टुडे ने की सख्त कार्रवाई, क्या मिली सजा?

by Khabartakmedia

इंडिया टुडे ने वरिष्ठ न्यूज एंकर और अपने ही चैनल के कंसल्टिंग एडिटर राजदीप सरदेसाई पर कड़ी कार्रवाई की है। चैनल ने राजदीप सरदेसाई के गलत सूचना देने पर यह कदम उठाया है। राजदीप को अब अगले दो हफ्तों के लिए ऑफ एयर कर दिया गया है। वे अब अगले दो सप्ताह तक इंडिया टुडे पर खबर पढ़ते नहीं देखे जाएंगे। इसके अलावा चैनल ने उनके एक महीने की तनख्वाह भी काट ली है।

बता दें कि कि 26 जनवरी को हुए किसान ट्रैक्टर रैली के दिन दिल्ली में भयानक हिंसा हुई थी। इसी उपद्रव की रिपोर्टिंग के दौरान राजदीप सरदेसाई ने एक गलत सूचना दे दी। मसला ये था कि इस उपद्रव में एक 45 साल के नवनीत सिंह नामक किसान की मौत हो गई थी। इसी मौत की जानकारी देते हुए राजदीप सरदेसाई ने गलती कर दी। उन्होंने कहा कि आईटीओ के पास एक ट्रैक्टर चालक को सिर में गोली लग गई है, जो कथित तौर पर पुलिस ने फायरिंग की थी। जबकि ऐसा कोई सबूत सामने नहीं आया है कि नवनीत सिंह की मौत पुलिस की गोली लगने से हुई है।

वरिष्ठ न्यूज एंकर राजदीप सरदेसाई (file photo)

सरदेसाई की सुधार:

अपने इस गलत सूचना को लेकर राजदीप सरदेसाई जल्द ही चेत गए। उन्हें जब यह पता चला कि तथ्य उनके दावे के उलट है तब उन्होंने भूल सुधार भी कर ली। नवनीत सिंह की मौत का मामला जब तूल पकड़ रहा था तब दिल्ली पुलिस ने एक वीडियो जारी की। वीडियो में एक ट्रैक्टर तेज रफ्तार से आता हुआ दिखता है। गति अधिक होने के कारण ट्रैक्टर काबू से बाहर हो गई और सड़क पर पलट गई। पुलिस ने दावा किया कि इसी ट्रैक्टर के पलटी खाने पर नवनीत सिंह की मौत हुई है।

राजदीप सरदेसाई ने दिल्ली पुलिस की इस वीडियो को भी ट्वीट किया। इस ट्वीट में उन्होंने स्थिति को स्पष्ट किया था। इंडिया टुडे के इस कदम को लेकर राजदीप सरदेसाई ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। देखना दिलचस्प होगा कि वे क्या कहते हैं। क्योंकि उन्होंने अपने गलत ट्वीट और जानकारी को जल्द ही खारिज कर दिया था। लेकिन ट्विटर पर अभी भी राजदीप पर केस दर्ज करने और गिरफ्तार करने की बात हो रही है।

बता दें कि दिल्ली पुलिस अब गणतंत्र दिवस के दिन हुए हिंसा पर कार्रवाई करने में जुट गई है। पुलिस ने किसान आंदोलन के तमाम बड़े नेताओं पर मुकदमा दर्ज किया है। अब तक सैकड़ों किसानों को पुलिस हिरासत में ले चुकी है। कयास लगाए जा रहे हैं कि दिल्ली पुलिस जल्द ही किसान नेता राकेश टिकैत और योगेन्द्र यादव को भी गिरफ्तार कर सकती है।

Related Articles

Leave a Comment