Latest News
Home कोरोना वायरस IMA ने PM MODI को लिखी चिट्ठी, रामदेव पर दर्ज किया जाए देशद्रोह का मुकदमा!

IMA ने PM MODI को लिखी चिट्ठी, रामदेव पर दर्ज किया जाए देशद्रोह का मुकदमा!

by
BABA RAMDEV

Indian Medical Association (IMA) ने बुधवार यानी आज एक चिट्ठी लिखी है। यह पत्र भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को लिखी गई है। IMA ने प्रधानमंत्री मोदी से अपील की है कि पतंजलि के मालिक बाबा रामदेव के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज हो। उनका कहना है कि रामदेव लगातार कोरोना वैक्सीन को लेकर दुष्प्रचार कर रहे हैं। जो कि एक देशद्रोह का मामला है। इसलिए बगैर किसी देरी के रामदेव पर देशद्रोह का मामला दर्ज होना चाहिए।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने पीएम मोदी को लिखा है कि “पतंजलि के मालिक रामदेव की एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। जिसमें उन्होंने दावा किया है कि कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लेने के बावजूद 10,000 डॉक्टर मर गए। जबकि एलोपैथी की दवाइयां खाने से लाखों लोगों की मौत हो गई है।”

“हम स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा तय किए गए दिशा निर्देशों और प्रोटोकॉल्स के तहत कार्य करते हैं। इसी के अंतर्गत हमारे अस्पतालों में आने वाले लाखों लोगों का इलाज करते हैं। ऐसे में यदि कोई यह दावा करता है कि हमारे अस्पतालों में आने से लाखों लोग मर गए। तो यह स्वास्थ्य मंत्रालय को चुनौती दी जा रही है। जिसके प्रोटोकॉल्स के तहत हम काम करते हैं।” IMA ने यह बात अपनी चिठ्ठी में लिखी है।

IMA ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है कि यह मामला देशद्रोह का है। इसलिए बगैर किसी विलंब के रामदेव पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया जाए। क्योंकि ऐसे दुष्प्रचार से टीकाकरण के प्रति लोगों में खौफ पैदा होगा।

IMA उत्तराखंड ने किया मानहानि:

रामदेव के बयानों और फर्जी दावों ने माहौल गरम कर दिया है। मेडिकल के क्षेत्र से जुड़े लोग बेहद गुस्से में हैं। यही वजह है कि IMA पूरी आक्रामकता के साथ रामदेव के खिलाफ मोर्चा खोले हुए है। आज IMA की एक शाखा उत्तराखंड में भी है। जिसने रामदेव को एक नोटिस भेजी है। नोटिस में कहा गया है कि बाबा रामदेव अपने सभी फर्जी दावों का एक वीडियो के जरिए खंडन करें। लिखित रूप से इस काम के लिए माफी मांगे। यदि रामदेव ऐसा नहीं करते हैं तब IMA उत्तराखंड उनके खिलाफ 1000 करोड़ के मानहानि का मुकदमा दर्ज कराएगा।

यह भी पढ़ें

Related Articles

Leave a Comment