Latest News
Home ताजा खबर गुजरात सरकार का ऐतिहासिक फैसला, ड्रैगन फ्रूट अब इस नाम से जाना जाएगा!

गुजरात सरकार का ऐतिहासिक फैसला, ड्रैगन फ्रूट अब इस नाम से जाना जाएगा!

by Khabartakmedia

गुजरात की भाजपा सरकार ने एक फैसला लिया है। कितना जरूरी, कितना ऐतिहासिक? इसका फैसला पाठक खुद करें। एक फल है जिसका नाम भारत के दुश्मन पड़ोसी मुल्क के प्रतीक चिन्ह से मिलता जुलता है। उस देश का नाम है चीन। वही चीन जिसके साथ लंबे समय से भारत के साथ तकरार चल रही है। वही चीन जो विशेषज्ञों के अनुसार भारत की सीमा के भीतर घुस आया है। वही चीन जिसके बारे में दो दिन पहले यह खबर आई कि उसने अरुणाचल प्रदेश में भारतीय जमीन पर एक गांव बसा दिया है। चीन का प्रतीक चिन्ह “ड्रैगन”। ड्रैगन एक फल का भी नाम है। इस फल को “ड्रैगन फ्रूट” कहा जाता है।

ड्रैगन फ्रूट जो अब कमलम पुकारा जाएगा

गुजरात में भारतीय जनता पार्टी की सरकार है। मुख्यमंत्री हैं विजय रूपाणि। विजय रूपाणि की सरकार ने एक फैसला लिया है। प्रदेश सरकार ड्रैगन फ्रूट का नाम बदल देगी। कहा जा रहा है कि यह कदम इसलिए उठाया गया है क्योंकि ड्रैगन चीन का प्रतीक चिन्ह है। अब इस फल को दूसरे नाम से जाना जाएगा। नया नाम होगा “कमलम“। कमलम क्यों? मुख्यमंत्री विजय रूपाणि का कहना है कि ड्रैगन फ्रूट बाहर से कमल की तरह दिखता है। इसलिए इसका नाम बदलकर कमलम कर दिया जाएगा।
समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक मुख्यमंत्री रूपाणि ने कहा है कि “State government has decided rename Dragon Fruit. As the outer shape of the fruit resembles a lotus, hence Dragon Fruit shall be renamed as ‘Kamalam’.

अब सोशल मीडिया पर इस बात को लेकर खूब बहस हो रही है। लोग भाजपा सरकार की इस नाम बदलने की नीति को लेकर खूब फब्तियां कस रहे हैं। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के भाजपाई मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस काम में सबसे आगे रहते हैं। उत्तर प्रदेश के कई शहरों और रेलवे स्टेशन के नाम बदल दिए गए। हालांकि यह फैसला एकदम नया नवेला है, जब किसी फल का नाम बदल दिया गया हो।

Related Articles

Leave a Comment