Latest News
Home ताजा खबर पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह के खिलाफ वाराणसी में मुकदमा दर्ज, सवाल बनी वजह!

पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह के खिलाफ वाराणसी में मुकदमा दर्ज, सवाल बनी वजह!

by Khabartakmedia

पूर्व आईएएस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गई है। एफआईआर वाराणसी पुलिस द्वारा दर्ज की गई है। सूर्य प्रताप सिंह ने ट्विटर पर वाराणसी की एक वीडियो ट्वीट की थी। जिसके बाद पुलिस ने उन मुकदमा कर दिया है। सूर्य प्रताप सिंह का कहना है कि वाराणसी की वीडियो असली है। पुलिस का दावा है कि सूर्य प्रताप सिंह ने जो वीडियो ट्वीट की है, वह पुरानी है। पुराना वीडियो ट्वीट करने के कारण ही उन पर एफआईआर दर्ज हुई है।

पूर्व आईएएस अधिकारी ने ट्विटर पर इस बाबत एक और ट्वीट की है। उन्होंने लिखा है कि “उत्तर प्रदेश पुलिस की प्राथमिकता का जवाब नहीं। बनारस में घटित हुई इस ‘सत्य घटना’ को ट्वीट करने पर मेरे ऊपर मुक़दमा लिख दिया गया है। आरोप है ‘घटना तो पहले हुई, ट्वीट आज कैसे कर दिया गया’। आपको तकलीफ बस इतनी सी है की मैं आक्सीजन पर सवाल क्यूँ पूछ रहा हूँ।”

इस ट्वीट के साथ सूर्य प्रताप सिंह ने एक खबर की लिंक भी शेयर की है। खबर का शीर्षक है, “BHU- कोविड अस्पताल में सीवर के पास मिला लापता मरीज का शव, परिजनों ने लगाया किडनी निकालने का आरोप”
यह खबर आज तक वेबसाइट पर 25 अगस्त, 2020 को छपी है।

मुकदमे पर प्रतिक्रिया:

सूर्य प्रताप सिंह ने एक अन्य ट्वीट में कहा है कि “मेरे ऊपर मुक़दमा करने से अगर मरीज़ों को आक्सीजन मिलता है, ग़रीबों को दवाई मिलती है, बेड मिलता है, तो मैं ऐसे हर मुक़दमे का स्वागत करता हूँ।” गौरतलब है कि इस साल सूर्य प्रताप सिंह पर ये चौथा मुकदमा दर्ज हुआ है। सूर्य प्रताप सिंह लगातार सरकार से सवाल पूछते रहते हैं। मुखर होकर उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार की आलोचना करते हैं। उनकी खराब नीतियों पर उंगली उठाते रहते हैं।

इस मुकदमे पर पत्रकार रोहिणी सिंह ने सवाल उठाया है। उन्होंने अपनी ट्वीट में कई सवाल पूछे हैं। सचिव अवनीश के. अवस्थी को टैग कर पूछा है कि “क्या आप सर्वोच्च न्यायालय के निर्देशों की धज्जियां उड़ाएंगे? योगी जी की छवि को ऐसे बचाएंगे?”

Related Articles

Leave a Comment