Latest News
Home न्यायालय चुनाव आयोग के वकील ने दिया इस्तीफा, आयोग के कामकाज पर बोल गए बड़ी बात!

चुनाव आयोग के वकील ने दिया इस्तीफा, आयोग के कामकाज पर बोल गए बड़ी बात!

by Khabartakmedia

सर्वोच्च न्यायालय में भारत के निर्वाचन आयोग का पक्ष रखने वाले एक वकील ने शुक्रवार को इस्तीफा दे दिया। उन्होंने निर्वाचन आयोग के वकीलों की पैनल से इस्तीफा देकर खुद को अलग कर लिया है। उन्होंने अपना इस्तीफा देते हुए आयोग के कामकाज को लेकर बड़ी बात कह दी। जिसके बाद इस मुद्दे पर खूब बहस चल रही है। वकील का नाम है मोहित डी. राम। जिन्होंने आज सर्वोच्च न्यायालय के सामने ही अपने पद से इस्तीफा दे दिया।

वकील मोहित डी. राम ने अपने इस्तीफा पत्र में लिखा है कि “मैंने पाया कि मेरे मूल्य निर्वाचन आयोग के मौजूदा कामकाज के अनुरूप नहीं है। इसलिए मैं सुप्रीम कोर्ट के समक्ष इसके पैनल के अधिवक्ता की जिम्मेदारियों से अपने आप को मुक्त करता हूं।” उन्होंने आगे कहा कि “मैं अपने कार्यालय में सभी लंबित मामलों में फाइलों, एनओसी और वकालतनामा का सुचारू रूप से हस्तांतरण करता हूं।”

अदालतों के फेर में चुनाव आयोग:

गौरतलब है कि इस वक्त चुनाव आयोग बहस का विषय बना हुआ है। बीते कुछ दिनों में आयोग को अदालतों का चक्कर भी खूब लगाना पड़ा है। पश्चिम बंगाल व अन्य राज्यों के विधानसभा चुनावों को लेकर आयोग सवालों के घेरे में रहा है। कोरोना महामारी के दौर में भी चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों और नेताओं को लाखों लोगों की भीड़ जुटाकर रैली करने दिया। ऐसे समय में जब लोगों से शारीरिक दूरी बरतने की बात कही जा रही है तब राजनीतिक रैलियों की जुटान करने देना काफी ख़तरनाक साबित हुआ है।

चुनावी रैलियों और चुनाव आयोग को लेकर पिछले दिनों मद्रास उच्च न्यायालय ने एक गंभीर टिप्पणी की थी। कोर्ट ने कहा था कि चुनाव आयोग के अधिकारियों पर संभवतः हत्या के मुकदमे दर्ज किए जाने चाहिए। कोर्ट ने चुनाव आयोग को राजनीतिक रैलियों की छूट देने के लिए कड़ी फटकार लगाई थी। मद्रास उच्च न्यायालय की इस टिप्पणी को लेकर निर्वाचन आयोग सर्वोच्च अदालत पहुंच गया है। आयोग ने सर्वोच्च न्यायालय मद्रास हाई कोर्ट के इस बयान को हटवाने की अपील की है। आयोग का मानना है कि मद्रास हाई कोर्ट ने बिना समझे “हत्या का मुकदमा दर्ज करने” वाली बात कही। जिससे आयोग की छवि खराब हुई है।

Related Articles

Leave a Comment