Latest News
Home ताजा खबर प्रयागराज: नहीं जमा हुई पूरी फीस तो बगैर टांके के फटे पेट नन्ही बच्ची को अस्पताल से निकाला, कौन करेगा कार्रवाई?

प्रयागराज: नहीं जमा हुई पूरी फीस तो बगैर टांके के फटे पेट नन्ही बच्ची को अस्पताल से निकाला, कौन करेगा कार्रवाई?

by Khabartakmedia

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज से रूह कंपा देने वाली घटना सामने आई है। शुक्रवार को एक नन्ही बच्ची की मौत हो गई है। बच्ची की उम्र महज तीन साल थी। जिसे पैसों की किल्लत और समाज की मर चुकी इंसानियत के वजह से दुनिया को छोड़ना पड़ा। दरअसल उसके पेट में दर्द शुरू हुआ। तो परिवार के लोग एक निजी अस्पताल में दिखाने ले गए। अस्पताल का नाम यूनाइटेड मेडिसिटी है। जिसका भवन बेहद आलीशान और विशाल है। अस्पताल के डाक्टरों ने बच्ची के पेट की ऑपरेशन की। फीस के तौर पर घरवालों से पांच लाख रुपए जमा करने को कहा गया था।

नन्हीं बच्ची के घरवालों के पास इतने पैसे नहीं थे। तो उन्होंने अपनी जमीन बेच दी। लेकिन इससे भी दो लाख रुपए ही जुटा सके। उन्होंने यही दो लाख रुपए अस्पताल में जमा करा दिया। जबकि अस्पताल की ओर से पांच लाख रुपए की मांग हुई थी। पूरा पैसा जमा नहीं होने के कारण अस्पताल ने बच्ची उसके घरवालों को सौंप दिया। वो भी फटे पेट। पेट में बगैर टांका लगाए उसे अस्पताल से निकाल दिया गया। थोड़े ही देर बाद उसकी मौत हो गई।

केशव प्रसाद मौर्य के शहर का मामला:

ये घटना निजी अस्पतालों के व्यवस्था को दिखाती है। जान, पैसे से ऊपर है। इसी सिद्धांत पर निजी अस्पताल काम कर रहे हैं। बता दें कि मामला उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के शहर की है। निजी अस्पताल ने अपनी फीस के लिए एक नन्ही सी जान को मौत के घाट उतार दिया। अब देखना होगा कि सरकार इस घटना पर क्या कार्रवाई करती है? मामला संगीन है। जांच पुख्ता तौर पर होनी चाहिए। ताकि पीड़ित को न्याय मिल सके।

Related Articles

Leave a Comment