Latest News
Home प्रादेशिक खबरेंउत्तर प्रदेश योगी मॉडल: ब्लॉक प्रमुख का चुनाव है या फिर रजवाड़ों का युद्ध? पत्थर, लाठी, गोली, बम सब चले एक साथ!

योगी मॉडल: ब्लॉक प्रमुख का चुनाव है या फिर रजवाड़ों का युद्ध? पत्थर, लाठी, गोली, बम सब चले एक साथ!

by
यूपी ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में हिंसा

त्तर प्रदेश में ब्लॉक प्रमुख का चुनाव होने वाला है। 10 जुलाई यानी कि शुक्रवार को मतदान होना है। कल ही मतगणना भी होगी। 8 जुलाई को ब्लॉक प्रमुख के चुनाव के लिए नामांकन हुआ। नामांकन न हुआ मानो उत्तर प्रदेश में दो रजवाड़ों के बीच होने वाले युद्ध का दृश्य देखने को मिल गया। या कहिए कि किसी एक्शन मूवी का साक्षात प्रदर्शन हो गया।

सूबे के कई जिलों में नामांकन के दौरान जमकर हिंसा हुई। प्रत्याशियों के बीच जमकर बवाल हुआ। उम्मीदवारों ने खूब शक्ति प्रदर्शन किया। किसी ने अपने विरोधी प्रत्याशी के प्रस्तावक को पिटवाया। तो किसी ने अपने विरोधी प्रत्याशी पर पत्थर चलवाए।

कई जगह लोग हिंसा के इस पुराने तौर तरीकों से बाहर आए। इसलिए उन्होंने गोली और बम चलाए। जी हां, बिल्कुल भी मत चौंकिए। ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में नामांकन के दौरान उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों गोलीबारी और बमबाजी भी हुई है।

सरसरी निगाह में हिंसा की घटनाएं:

प्रदेश के उन्नाव जिले से भी हिंसा की खबरें आई। उन्नाव के असोहा में नामांकन के दौरान भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रत्याशी आपस में टकरा गए। दोनों के समर्थकों के बीच जमकर पथराव हुआ। कई लोग घायल भी हुए। पुलिस घटनास्थल पर मूकदर्शक की भूमिका में मौजूद थी।

ऐसी ही हिंसा रामलला की जन्मस्थली अयोध्या में भी हुई। यहां भी युद्ध का माहौल रहा। अयोध्या के मया ब्लॉक पर भी भाजपा और सपा के समर्थक आपस में भिड़ गए। भाजपा के कार्यकर्ताओं ने सत्ता की ताकत दिखाते हुए सपा प्रत्याशी के प्रस्तावक राजेश कुमार को लहूलुहान कर दिया।

सूबे के सीतापुर जिले में हिंसा का रूप भयानक था। यहां भी भाजपा और सपा के समर्थकों में झड़प हो गई। लेकिन यहां लड़ाई मामूली नहीं थी। हाथापाई से बात लाठी डंडों तक पहुंची। लेकिन देखते ही देखते पुलिस के सामने ही तड़ातड़ गोलियां चलने लगीं। खबरों के मुताबिक यहां तीन लोगों को गोली लगी है।

गोरखपुर के चरगांवा में भाजपा के प्रत्याशी की गाड़ी पर जमकर पत्थरबाजी हुई। गाड़ी के कांच टूटे। सवार हुए लोग खून से तर हो गए।

कहीं छीना पर्चा तो कहीं नहीं हुआ नामांकन:

उत्तर प्रदेश के ही फतेहपुर जिले में एक ब्लॉक है तेलियानी। सोशल मीडिया पर इस ब्लॉक का एक वीडियो वायरल हुआ। समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी अपना पर्चा दाखिल करने पहुंचे। तभी एक शख्स सफेद शर्ट पहने, सफेद गमछे से मुंह बांधे और कमर में पिस्तौल खोंसे पहुंच गया। पुलिस की मौजूदगी में उस शख्स ने सपा प्रत्याशी का पर्चा छीनने की कोशिश की।

हालांकि पुलिस ने पर्चा नहीं छीनने दिया। पुलिस ने अपनी विनम्रता का परिचय देते हुए उस शख्स को वहां से भगा। सवाल है कि अगर कोई व्यक्ति बंदूक लिए किसी प्रत्याशी से उसका नामांकन पर्चा छीनने की कोशिश कर रहा हो तो क्या पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं करेगी? क्या पुलिस उसे वहां से हटा देगी? ये पुलिस प्रशासन पर भी सवालिया निशान है।

इसी तरह की खबरें लखीमपुर से भी सामने आईं। सपा के प्रत्याशी से जबरन उनका पर्चा छीन लिया गया। सपा प्रत्याशी के समर्थकों के साथ मारपीट की भी बात सामने आई है।

Related Articles

Leave a Comment