Latest News
Home कोरोना वायरस कोरोना की टीका लगने पर क्या रहा अनुभव, वाराणसी में कोरोना वैक्सीन कहां मिलेगी?

कोरोना की टीका लगने पर क्या रहा अनुभव, वाराणसी में कोरोना वैक्सीन कहां मिलेगी?

by Khabartakmedia

भारत में शनिवार से कोरोना वायरस के खिलाफ दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू हो गया है। टीकाकरण की तैयारियां पिछले कई हफ्तों से चल रही थीं। आज भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस अभियान शुरुआत की। प्रधानमंत्री ने इस मौके पर देश को संबोधित किया और इस काम से जुड़े हर व्यक्ति को धन्यवाद भी दिया।
नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी कोरोना वायरस की टीका लगनी शुरू हो गई है। यहां कुल छह जगहों पर सबसे पहले टीकाकरण शुरू की गई है। इन सभी को कोविशील्ड का स्वदेशी टीका लगाया गया। हेरिटेज मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में आज सबसे पहले स्वास्थ्यकर्मियों को कोरोना की टीका लगाई गई। हेरिटेज मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में टीका लगाने के दौरान वरिष्ठ डाक्टर लगातार निर्देश दे रहे थे।

कोरोना टीका कैसे लगती है देखती है!

हेरिटेज में सबसे पहले असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. कल्पना कुमारी को टीका लगाई गई। टीकाकरण के बाद डॉ. कल्पना से खबर तक मीडिया ने बातचीत की और उनका अनुभव जानने की कोशिश की। उन्होंने बताया कि “कुछ अलग नहीं है। जैसे साधारण सुई लगती है, वैसा ही इसमें भी है। ऐसा लग रहा है कि मेरे चारों तरफ एक सुरक्षा कवच बन गया है।” उन्होंने भारत सरकार को धन्यवाद भी किया कि सबसे पहले यह वैक्सीन इन स्वास्थ्यकर्मियों को लगाया जा रहा है। वैक्सीन के किसी नुक़सान या उल्टा असर (साइड इफेक्ट) के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि “कुछ खास नहीं। लेकिन जो आमतौर पर किसी भी टीका के लगने के बाद साधारण साइड इफेक्ट्स देखने को मिलते हैं।
एक अन्य पुरुष स्वास्थ्यकर्मी को भी यह टीका लगी। उन्होंने भी कहा कि एकदम सामान्य अनुभव है। कोई डर नहीं है।
बता दें कि जिन्हें टीका लगाई जा रही है उन्हें अगले आधे घंटे तक डाक्टर की निगरानी में रखा जा रहा है। जिन लोगों को भी ये टीका लगाई जा रही है उन्हें फिर से एक डोज और दिया जाएगा। अगली डोज 28 दिनों के बाद दी जाएगी।

Related Articles

Leave a Comment