Latest News
Home चुनावी हलचल भाजपा ने जारी किया पश्चिम बंगाल के लिए चुनावी घोषणा पत्र, बताया कब लागू होगी CAA

भाजपा ने जारी किया पश्चिम बंगाल के लिए चुनावी घोषणा पत्र, बताया कब लागू होगी CAA

by Khabartakmedia

पश्चिम बंगाल का चुनाव अब एकदम अपने मुहाने पर पहुंच गया है। महज एक हफ्ते का समय बच गया है मतदान शुरू होने में। 27 मार्च को बंगाल में पहले चरण के लिए वोट डाले जाएंगे। तमाम दलों के छोटे से लेकर बड़े नेताओं की तूफानी रैलियां हो रही हैं। इस चुनाव में मुख्य प्रतिद्वंद्वी के रूप में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस और देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पार्टी भाजपा को ही देखा जा रहा है। भारतीय जनता पार्टी ने रविवार की शाम अपना चुनावी घोषणा पत्र जारी कर दिया है।

केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा के कद्दावर नेता अमित, प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष और कैलाश विजयवर्गीय ने घोषणा पत्र जारी किया। भाजपा ने इस घोषणा पत्र को “संकल्प पत्र” का नाम दिया है। गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि “हमारे लिए ये सिर्फ एक घोषणा पत्र नहीं है। ये बंगाल को सोनार बांग्ला बनाने का संकल्प है। इसलिए हमने इसे संकल्प पत्र का नाम दिया है।” उन्होंने आगे कहा कि “संकल्प पत्र में सिर्फ घोषणाएं नहीं हैं, बल्कि ये संकल्प है दुनिया के सबसे बड़े दल का, ये संकल्प है देश में 16 से ज्यादा राज्यों में जिसकी सरकार है उस पार्टी का, ये संकल्प है पूर्ण बहुमत से लगातार दो बार बनी सरकार का।”

महिलाओं के लिए वादों की भरमार:

भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में वादा किया है कि अगर पश्चिम बंगाल में उनकी सरकार बनेगी तो सभी लड़कियों के लिए KG से PG तक की पढ़ाई निशुल्क होगी। इसके अलावा राज्य की महिलाओं को राज्य सरकार की नौकरियों में 33 फीसदी आरक्षण दिया जाएगा। साथ ही पब्लिक ट्रांसपोर्ट में सभी महिलाओं के लिए निशुल्क यात्रा की व्यवस्था होगी।

भाजपा ने यहां भी नागरिकता संशोधन कानून को लागू करने का वादा किया है। संकल्प पत्र में कहा गया है कि सरकार बनने के बाद कैबिनेट की पहली बैठक में ही सीएए को लागू किया जाएगा। शरणार्थियों के लिए संकल्प पत्र में वादा है कि मुख्यमंत्री शरणार्थी योजना के तहत प्रत्येक शरणार्थी परिवार को पांच साल तक DBT से 10 हजार रुपया प्रतिवर्ष दिया जाएगा।

किसानों को भी साधने की जुगत:

केंद्र की भाजपा सरकार ने तीन कृषि कानून बनाए। जिसके बाद से ही देश में किसान आंदोलन चल रहा है। किसान आंदोलन के बाद से भाजपा की छवि किसान विरोधी के तौर पर बनी हुई है। इसे दुरुस्त करने और किसानों को अपने हक में लाने के लिए भाजपा ने पश्चिम बंगाल में कई वादे किए हैं। कृषक सुरक्षा योजना के तहत हर भूमिहीन किसान को हर वर्ष 4,000 रुपये की सहायता देने का वादा है। “हर वर्ष किसानों को भारत सरकार का जो 6 हजार रुपये आता है उसमें राज्य सरकार का 4 हजार रुपया जोड़कर दिया जाएगा। पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ मिलेगा साथ ही 75 लाख किसानों को जो 18 हजार रुपये तीन साल से जो ममता दीदी ने नहीं पहुंचाया है वो सीधे किसानों को बैंक अकाउंट में देंगे।”

स्वास्थ्य के क्षेत्र में क्या है “संकल्प”?

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भाजपा का संकल्प पत्र जारी करते हुए बताया कि अगर बंगाल में भाजपा की सरकार बनने के बाद उत्तर बंगाल, जंगलमहल और सुंदरवन क्षेत्र में तीन नए AIIMS बनाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि “हमने तय किया है कि पहले ही कैबिनेट के अंदर बंगाल के हर गरीब को आयुष्मान भारत योजना का लाभ पहुंच पाए।”
“पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ मिलेगा साथ ही 75 लाख किसानों को जो 18 हजार रुपये तीन साल से जो ममता दीदी ने नहीं पहुंचाया है वो सीधे किसानों को बैंक अकाउंट में देंगे।”

Related Articles

Leave a Comment