Latest News
Home ताजा खबर काशी विद्यापीठ में ‘नमामि गंगे’ और ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ पर बोले मनोज तिवारी, फेक न्यूज पर भी बरसे

काशी विद्यापीठ में ‘नमामि गंगे’ और ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ पर बोले मनोज तिवारी, फेक न्यूज पर भी बरसे

by Khabartakmedia

गायक और दिल्ली से भाजपा के सांसद मनोज तिवारी बुधवार को वाराणसी पहुंचे। मनोज तिवारी महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ विश्वविद्यालय के शताब्दी समारोह में हिस्सा लेने पहुंचे थे। मशहूर भोजपुरी गायक शताब्दी वर्ष महोत्सव के समापन समारोह में मुख्य अतिथि रहे।

अपने चाहने वालों का अभिवादन स्वीकारते मनोज तिवारी

मनोज तिवारी को देखने और सुनने के लिए हुजूम उमड़ पड़ा था। हजारों की संख्या में छात्र छात्राएं और शहर के लोग काशी विद्यापीठ पहुंचे थे। मनोज तिवारी ने इस मौके पर भाषण भी दिया। अपने संबोधन के दौरान उन्होंने अपने मशहूर गाने भी गुनगुनाए। लोगों ने उन्हें “रिंकिया के पापा…” गाते हुए सामने से सुना। इस गीत को गाते वक्त उन्होंने कहा कि “आप गाने के अर्थों को समझिए। इसके जरिए हम जो संदेश देना चाहते हैं उसे देखिए।”

गायक मनोज तिवारी से गुफ्तगू करते विद्यापीठ के कुलपति प्रो. टी. एन. सिंह

मनोज तिवारी ने कहा कि “हमने बहुत साल पहले गंगा मईया की सफाई और भ्रूण हत्या को रोकने के लिए गाना गाया था। लेकिन हमें क्या पता था कि एक ऐसा प्रधानमंत्री आएगा जो नमामि गंगे और बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान शुरू कर देगा। जिससे मेरा गाना सार्थक हो जाएगा।” मनोज तिवारी ने अपना भाषण खत्म करते हुए कहा कि “आज सबसे जरूरी है फेक न्यूज के खिलाफ लड़ना। किसी भ्रम में ना पड़ना।” उन्होंने कहा कि “इस फेक न्यूज के प्रति हमें जागरूक काशी विद्यापीठ के बच्चे और शिक्षक करेंगे। क्योंकि ये लोग अध्ययनरत हैं।”

शताब्दी वर्ष समारोह पर क्या बोले कुलपति?

समापन समारोह में मनोज तिवारी और विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. टी. एन. सिंह के हाथों एक पुस्तक का विमोचन भी हुआ। पुस्तक का नाम है प्राचीन भारतीय इतिहास के स्त्रोत। इसे विश्वविद्यालय के ही इतिहास विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. योगेन्द्र सिंह ने लिखा है।

पुस्तक का विमोचन करते सभी मंचस्थ लोग

महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ ने सौ वर्ष पूरे कर लिए हैं। अंग्रेजी कैलेंडर के हिसाब से 10 फरवरी, 1921 को इस विश्वविद्यालय की स्थापना हुई थी। जब इसकी स्थापना हुई थी, उस दिन वसंत पंचमी तिथि थी। अपने गौरवपूर्ण सौ साल पूरे होने विश्वविद्यालय ने एक हफ्ते तक महोत्सव मनाया। पिछले सात दिनों में यहां कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन हुआ है। कला मेला से लेकर पुस्तक मेला तक परिसर में लगा था। छात्र-छात्राओं, शिक्षकों, अधिकारियों और कर्मचारियों में उत्साह देखते ही बन रहा था। आज यह आयोजन समाप्त हो गया। समापन समारोह में गायक मनोज तिवारी की उपस्थिति ने छात्र-छात्राओं के लिए इसे और भी यादगार बना दिया है।

Related Articles

Leave a Comment