Latest News
Home ताजा खबर भाजपा आईटी सेल ने इंडिया टुडे के पत्रकार की फोटो शेयर कर मरा हुआ बता दिया? जवाब आया “अभी मैं जिंदा हूं”

भाजपा आईटी सेल ने इंडिया टुडे के पत्रकार की फोटो शेयर कर मरा हुआ बता दिया? जवाब आया “अभी मैं जिंदा हूं”

by Khabartakmedia

पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस को बड़ी जीत हासिल हुई है। टीएमसी को लगभग दो तिहाई बहुमत मिला। तो वहीं पूरी जोर आजमाइश के बाद भी भारतीय जनता पार्टी 100 सीटों तक भी नहीं पहुंच सकी। बीते बुधवार को ममता बनर्जी ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण की। इसी के साथ ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल की लगातार तीसरी बार मुख्यमंत्री बन गईं। लेकिन इन सब के बीच पश्चिम बंगाल में बहुत कुछ ऐसा भी घट रहा था, जिसे लेकर खूब बहस जारी है। पश्चिम बंगाल चुनाव के नतीजों के बाद राज्य के कई इलाकों राजनीतिक हिंसा देखने को मिल रही है।

चुनाव में टीएमसी की जीत के बाद कई अलग अलग जिलों से भयानक हिंसा की तस्वीरें सामने आईं। भाजपा ने दावा किया कि टीएमसी के कार्यकर्ता ये हिंसा कर रह रहे हैं। कहा गया कि टीएमसी के कार्यकर्ता भाजपा कार्यकर्ताओं को पीट रहे हैं, उनके घर लूट रहे हैं, आग लगा रहे हैं। भाजपा की ओर से अपने कई कार्यकर्ताओं के नाम जारी किए गए और कहा गया कि टीएमसी की हिंसा में इनकी हत्या हुई है। सोशल मीडिया पर एक के बाद एक कई तस्वीरें और वीडियो शेयर होने लगीं। अलग अलग दावे किए जाने लगे। लेकिन इन सब के बीच कई झूठी और भ्रामक तस्वीरें भी वायरल की गई। भाजपा आईटी सेल की ओर से जारी कई वीडियो फर्जी और पुराने निकले। जिसे बंगाल में हो रही हिंसा का वीडियो बताकर शेयर किया गया।

भाजपा की ओर से इसी तरह की एक तस्वीर फेसबुक पर शेयर की गई। तस्वीर में दावा किया गया कि “ये माणिक मोइत्रा हैं और पश्चिम बंगाल की हिंसा में इनकी मौत हो गई है।” भाजपा आईटी सेल ने लिखा कि माणिक मोइत्रा की मौत सितलकुची में हो रही हिंसा के दौरान हुई है। इस पोस्ट को खूब शेयर किया गया। टीएमसी कार्यकर्ताओं द्वारा हत्या किए जाने की बात कही गई। लेकिन गुरुवार की दोपहर इस पोस्ट की हकीकत सभी के सामने आ गई।

अभ्रो बनर्जी को बना दिया माणिक मोइत्रा:

भाजपा की आईटी सेल जिस शख्स को माणिक मोइत्रा बता रही थी, उनका असली नाम अभ्रो बनर्जी है। अभ्रो बनर्जी न्यूज चैनल इंडिया टुडे के पत्रकार हैं। अभ्रो बनर्जी ने एक ट्वीट कर भाजपा आईटी सेल के दावों का खंडन किया है। अभ्रो ने अपनी ट्वीट में बताया है कि “मैं अभ्रो बनर्जी हूं और जिंदा हूं। मैं सितलकुची से 1300 किलोमीटर दूर हूं। भाजपा आईटी सेल दावा कर रही है कि मैं माणिक मोइत्रा हूं और सितलकुच में मर गया हूं। इस झूठे पोस्ट पर भरोसा मत कीजिए। मैं दोहराता हूं, मैं अभी जिंदा हूं।”

पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा की आड़ में बड़े स्तर पर फर्जी तस्वीरें और वीडियो शेयर किए गए हैं। जिनकी कई फैक्ट चेक वेबसाइट्स ने पोल खोली है। बंगाल में हुई हिंसा के सहारे भाजपा आईटी सेल एक बड़ा प्रोपेगैंडा खड़ा करना चाहती है। इसीलिए महिला कार्यकर्ताओं के साथ रेप की झूठी खबरें भी फैलाई जा रही है। अभ्रो बनर्जी को लेकर किया गया दावा हजारों लोगों तक पहुंच चुका होगा। लोगों ने भरोसा भी कर लिया होगा। लेकिन अब इस प्रोपेगैंडा की तहें खुल गई है।

Related Articles

Leave a Comment