Latest News
Home प्रादेशिक खबरेंछत्तीसगढ़ नक्सली हमले की खबर पर नहीं, असम चुनाव प्रचार खत्म होने पर लौटे भूपेश बघेल और अमित शाह?

नक्सली हमले की खबर पर नहीं, असम चुनाव प्रचार खत्म होने पर लौटे भूपेश बघेल और अमित शाह?

by Khabartakmedia

पुलवामा हमले के बाद भारतीय जवानों पर होने वाला सबसे बड़ा हमला छत्तीसगढ़ में हुआ है। छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में नक्सलियों और भारतीय जवानों के बीच भारी मुठभेड़ चल रही थी। इस मुठभेड़ में एक तरफ जंगलों में घात लगाए बैठे नक्सली थे। दूसरी ओर सीआरपीएफ के जवान और छत्तीसगढ़ पुलिस। मुठभेड़ के बीच खबर आई कि नक्सलियों ने कायराना हमला कर दिया है। शुरुआती रिपोर्ट्स में पांच जवानों के शहीद होने की खबर थी। यह सब हो रहा था गत शनिवार को। लेकिन रविवार दोपहर तक शहीदों की संख्या 22 हो गई और एक जवान के लापता होने की बात सामने आई। 31 घायल जवानों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

लेकिन बड़ा सवाल ये है कि जब यह सब हो रहा था तब छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कहां थे? भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कहां थे? केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह कहां थे? इससे भी बड़ा सवाल, इस खबर के आने के बाद ये तीनों नेता ने क्या फैसला किया? क्या वे तुरंत इस मामले में कूद पड़े? जाहिर है कि हमले की खबर मीडिया और आम लोगों तक पहुंचने से पहले इन नेताओं तक पहुंची होगी। इससे कोई इनकार नहीं कर सकता। हमला बीते कल हुआ था। तब मुख्यमंत्री भूपेश असम में थे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पश्चिम बंगाल में थे। गृह मंत्री अमित शाह केरल में थे।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (फोटो: द हिन्दू)

ये तीनों नेता अलग अलग राज्यों में अपनी अपनी पार्टी के लिए चुनाव प्रचार कर रहे थे। तीनों नेताओं का ट्विटर हैंडल इस घटना से सुना मिलता है इस दौरान। गौरतलब है कि जब से पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हुआ है भारत में कोई समस्या तो रह नहीं गई है। हर किसी के लिए प्राथमिकता चुनाव जीतना है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तो असम में ही डेरा जमा लिया है। हालांकि इस बात के लिए उनकी खूब तारीफें भी हुई है। कहा जा रहा है कि भूपेश बघेल कांग्रेस के सबसे समर्पित नेता हैं। जो पार्टी के जीत के खातिर दिन रात मेहनत कर रहे हैं।

असम में थम गया चुनाव प्रचार:

असम में तीसरे और अंतिम चरण के लिए चुनाव का आज आखिरी दिन था। आज शाम को ही चुनाव प्रचार थम गया है। छत्तीसगढ़ के नक्सली हमले में शहीद जवानों की संख्या आज बीस के पार चली गई। इसी बीच यह खबर आई कि राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज शाम छत्तीसगढ़ लौटेंगे। जबकि गृह मंत्री अमित शाह भी आज ही शाम दिल्ली लौटेंगे। क्या इसे कहा जाए कि “ये दोनों बड़े नेता इस भयानक हमले की खबर के बाद असम से लौट रहे हैं?” या कहा जाए कि “असम में चुनाव प्रचार खत्म हो जाने की वजह से दोनों नेता लौट रहे हैं?”

इन सवालों को बल देने वाला तथ्य भी है। नक्सलियों ने कल ही हमला कर दिया था। पांच जवानों के शहीद होने की खबर भी आ गई थी। बावजूद इसके भूपेश बघेल और अमित शाह आखिर क्यों अब तक असम में बैठे रहे? भूपेश बघेल के लिए ये सवाल और भी गंभीर हैं। क्योंकि वे छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री हैं। भारत में नेताओं के लिए चुनाव जीतने से ज्यादा जरूरी शायद ही कुछ रह गया है। क्योंकि ऐसा नहीं होता तो भूपेश बघेल से लेकर अमित शाह तक कल ही सक्रिय हो गए होते। असम से छत्तीसगढ़ और दिल्ली पहुंच गए होते।

Related Articles

Leave a Comment