Latest News
Home राजनीति राम मंदिर निर्माण में भ्रष्टाचार के आरोप पर महिला कांग्रेस का प्रदर्शन, पुलिस ने की जोर आजमाइश

राम मंदिर निर्माण में भ्रष्टाचार के आरोप पर महिला कांग्रेस का प्रदर्शन, पुलिस ने की जोर आजमाइश

by
Congress workers protest in Lucknow

Ayodhya Ram Temple. अयोध्या में बन रहे राम मंदिर का मुद्दा एक बार फिर गरमा गया है। मंदिर निर्माण का जिम्मा संभाल रहे श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं। ट्रस्ट पर करोड़ों के चंदा चोरी का आरोप लगा है। इसी मुद्दे को लेकर सोमवार यानी 14 जून को महिला कांग्रेस की कार्यकर्ताओं ने लखनऊ में प्रदर्शन किया। महिला कांग्रेस की कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री आवास के सामने प्रदर्शन किया।

सूबे की राजधानी लखनऊ में आज का दिन बेहद गहमागहमी वाला रहा। “BJP का श्रीराम को धोखा” का आरोप लगाते हुए महिला कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राजधानी में बड़ा प्रदर्शन किया। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री आवास का घेराव करना चाहा। कुछ ही देर में मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों के साथ महिला कांग्रेस की कार्यकर्ताओं की खींचतान शुरू हो गई। महिला कांग्रेसी आगे बढ़ना चाहती थीं। लेकिन पुरुष और महिला पुलिस ने मिलकर सभी को रोक दिया।

कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि लखनऊ में प्रदर्शन के दौरान उनके साथ बर्बरता हुई। पुलिस पर लाठी चलाने का आरोप भी लग रहा है। सोशल मीडिया पर इस प्रदर्शन की कई तस्वीरें और वीडियो वायरल हो रहे है। जिनमें महिला कांग्रेसियों को पुरुष पुलिस वाले भी रोकते और जोर आजमाइश करते दिख रहे हैं। इस प्रदर्शन में गाजियाबाद से 2019 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रहीं डॉली शर्मा भी शामिल थीं। इन सभी कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।

क्या है चंदा में चपत का मामला:

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का काम शुरू हो चुका है। मंदिर निर्माण का काम पूरे जोर शोर से चल रहा है। इस बीच गत रविवार यानी 13 जून को राम मंदिर निर्माण के लिए खरीदी गई जमीन में मोटी रकम के फर्जीवाड़े का आरोप लगा। ये आरोप सपा नेता और पूर्व राज्यमंत्री रहे तेज नारायण पांडेय पवन लगाया। फिर इस मुद्दे को कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने उठा लिया।

दरअसल राम मंदिर निर्माण क्षेत्र में ट्रस्ट ने एक जमीन खरीदी। ट्रस्ट ने यह जमीन कुल 18.50 करोड़ रुपए में खरीदी। लेकिन जब ट्रस्ट ने यह जमीन खरीदी ठीक उसी दिन पांच मिनट पहले उसी जमीन को सिर्फ 2 करोड़ रुपए में खरीदी गई थी।

सीधे और सपाट भाषा में समझिए। एक जमीन दो लोगों ने मिलकर 2 करोड़ रुपए में खरीदा। और खरीदने के पांच मिनट बाद ही उसी जमीन को ट्रस्ट को बेच दिया। सिर्फ पांच मिनट के अंतराल में ट्रस्ट ने यह जमीन 18.50 करोड़ में खरीदी। यानी पांच मिनट में ही एक ही जमीन की कीमत लगभग 16.50 करोड़ रुपए बढ़ गई! यहीं सवाल खड़ा हो रहा है।

इस पूरे मामले को साक्ष्य सहित समझने और जमीन के रजिस्ट्री के कागजात देखने के लिए यह खबर पढ़िए:

Related Articles

Leave a Comment