Latest News
Home ताजा खबर मंदिर में पानी पीने पर धर्म के ठेकेदार ने आसिफ को पीटा, नफरत और अंधेपन का सांप्रदायिक संगम

मंदिर में पानी पीने पर धर्म के ठेकेदार ने आसिफ को पीटा, नफरत और अंधेपन का सांप्रदायिक संगम

by

भारत संवैधानिक रूप से तो एक धर्मनिरपेक्ष देश है। लेकिन वास्तव में भारत का ये स्वरूप बड़ी तेजी से बदलता जा रहा है। देश के दो धर्मों के बीच अविश्वास की ऐसी लकीर खींची जा चुकी है जिसे मिटा पाना अब मुश्किल लग रहा है। इस लकीर ने जिस तेजी के साथ समाज में नफरत को बढ़ावा दिया है वो अपने आप में चिंताजनक है। ये मसला अब एक प्रकार लाईलाज घाव बन चुका है। ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर ये धार्मिक अंधेपन से बनी हुई नफरत की लकीर खींची किसने? इसका जवाब आसानी से नहीं दिया जा सकता है। पिछले दिनों उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बयान दिया था। योगी ने कहा कि “अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत के लिए सेक्युलरिज्म (धर्मनिरपेक्षता) सबसे बड़ी समस्या है।”

शनिवार को एक वीडियो बड़ी तेजी से वायरल वायरल होने लगा। वीडियो में एक शख्स एक छोटे बच्चे बुरी तरह पीटते हुए दिख रहा है। बच्चे को बड़ी बेरहमी से एक आदमी जमीन पर पटककर पीट रहा है। वीडियो शुरू होती है तो वो आदमी बच्चे से कुछ सवाल पूछता है।
क्या नाम है: आसिफ
मंदिर में क्या करने आए थे: आसिफ जवाब देता है पानी पीने।
और इसी जवाब के साथ ही आदमी बच्चे को मारना शुरू कर देता है। लड़के को मारते हुए सामने वाले को इस बात की जरा भी फिक्र नहीं है कि वो मर ना जाए। या कुछ अनहोनी ना हो जाए। बता दें कि वीडियो गाजियाबाद के दसना देवी मंदिर के पास की है। आरोपी का नाम श्रृंगी यादव है जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

जानबूझकर बनाया गया वीडियो:

इस वीडियो में एक बात ऐसी भी है जिसे खूब गौर से समझा जाना चाहिए। ये बड़ी बात वीडियो के एकदम शुरुआत में ही दिख जाती है। उस वीडियो में तीन लोग हैं। एक, पीटने वाला जहरीला आदमी। दूसरा, मार खाने वाला मासूम बच्चा। तीसरा, वीडियो बनाने वाला शख्स। वीडियो शुरू करते ही पहला आदमी कह रहा है कि “ठीक से वीडियो बनाना ताकि दोनों का चेहरा साफ साफ दिखे।” ये इस वीडियो की सबसे ख़तरनाक बात है। क्योंकि इस करतूत को करने वाला चाहता है कि उसका वीडियो बने और फिर उसे समाज में फैलाया जा सके। ताकि दूसरे धार्मिक अंधेपन के शिकार हुए लोग भी ऐसा ही करें।

यति नरसिंहानन्द से प्रेरित है आरोपी:

वीडियो में जो आदमी आसिफ को पीट रहा है उसका नाम श्रृंगी यादव है। श्रृंगी यादव श्रृंगी नंदन के नाम से फेसबुक चलाता है। अल्ट न्यूज के मोहम्मद ज़ुबैर ने ट्विटर पर एक थ्रेड पोस्ट किया है। जिसमें उन्होंने श्रृंगी यादव को लेकर कई सारी बातें सामने रखी हैं। श्रृंगी यादव अपने फेसबुक आईडी से कट्टर हिंदूवादी संत यति नरसिंहानन्द सरस्वती की पोस्ट को साझा किया है। इनमें मुस्लिमों के खिलाफ नफरत भरी बातें भी शामिल हैं।

एक वीडियो भी सामने आई है जिसमें श्रृंगी यादव यति नरसिंहानन्द के कार्यक्रम में शामिल हुआ है। ये वीडियो श्रृंगी यादव ने सेल्फी कैमरे से खुद ही बनाई है। मोहम्मद जुबैर के रिसर्च से यह बात पता चलती है कि बजरंग दल ने कुछ साल पहले गाजियाबाद के दसना देवी मंदिर में एक कार्यक्रम का आयोजन किया था। जिसमें बजरंग दल ने अपना शक्ति प्रदर्शन किया था। इस कार्यक्रम के दौरान बजरंग दल के लोगों ने कई बंदूकों से हवाई फायरिंग भी की थी। दसना देवी मंदिर के रखवाले महंत नरसिंहानन्द हैं। श्रृंगी यादव ने आसिफ को इसी दसना देवी मंदिर के बाहर बुरी पीटा है।

गौरतलब है कि श्रृंगी यादव जैसे लोग इसी तरह के नफरतों से तैयार किए जाते हैं। एक समय के बाद ऐसे लोग नफरत का पुतला बन जाते हैं। यति नरसिंहानन्द सरस्वती अक्सर मुस्लिम के खिलाफ जहर उगलते रहते हैं। समाज को बांटने का काम बड़ी सफाई के साथ वे करते आ रहे हैं। एक सभा के दौरान यति नरसिंहानन्द सरस्वती ने “मुस्लिम जिहादियों” के हत्या की वकालत की थी। इस सभा में मंच पर ही भाजपा के कपिल मिश्रा भी मौजूद थे।

Related Articles

Leave a Comment