Latest News
Home ताजा खबर IPL छोड़ वापस लौटे एंड्र्यू टाय, कोरोना पर बोल गए ऐसी बात कि टीमें सिर झुका लें!

IPL छोड़ वापस लौटे एंड्र्यू टाय, कोरोना पर बोल गए ऐसी बात कि टीमें सिर झुका लें!

by Khabartakmedia

Australian Cricketer Andrew Tye leave IPL 2021. एक तरफ भारत में कोरोना महामारी की दूसरी लहर से तबाही मची है। तो दूसरी ओर आईपीएल भी चल रहा है। हर शाम देश के किसी स्टेडियम में दो आईपीएल टीमें आपस में भिड़ रही होती हैं। जबरदस्त क्रिकेट का मुकाबला होता है। लाखों करोड़ों लोग अपने घर से अलग अलग माध्यमों से इस आईपीएल का लुत्फ भी उठा रहे हैं। लेकिन अब कोरोना महामारी की काली छाया आईपीएल पर भी पड़ने लगी है। एक के बाद एक कई खिलाड़ी आईपीएल को अलविदा कह रहे हैं। भारतीय क्रिकेटर आर. अश्विन और ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर एंड्र्यू टाय जैसे बड़े खिलाड़ी अपने फ्रैंचाइज को छोड़कर घर लौट चुके हैं।

ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज एंड्र्यू टाय ने कोरोना महामारी का हवाला देते हुए अपने देश वापस जाने का फैसला किया। एंड्र्यू टाय आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स की टीम में थे। लेकिन भारत में फैले कोरोना महामारी की वजह से उन्होंने इस साल आईपीएल नहीं खेलने की बात कही। अब वो ऑस्ट्रेलिया जा चुके हैं। इस फैसले के साथ एंड्र्यू ने एक बयान जारी किया है। मीडिया रपटों के मुताबिक एंड्र्यू में कहा है कि “एक खिलाड़ी के नजरिए से हम बिल्कुल सुरक्षित हैं। लेकिन क्या हम इस हालत में आगे भी सुरक्षित रहेंगे?”

कैसे हो रहा है इतना खर्च:

एंड्र्यू टाय ने कहा है कि “भारत के नजरिए से आईपीएल को देखा जाए, तो ये फ्रैंचाइज और कंपनियां कैसे इतना पैसा खर्च कर सकती हैं और सरकार आईपीएल पर कैसे इतना पैसा खर्च कर सकती है? जबकि लोग यहां अस्पताल में भर्ती तक नहीं हो पा रहे हैं।” एंड्र्यू टाय के इस बयान में भारत की जमीनी हकीकत दिखती है। भारत में कोरोना संक्रमण के मरीजों को अस्पताल में जगह नहीं मिल रही है, ऑक्सीजन की किल्लत है, जरूरी दवाइयां तक उपलब्ध नहीं हो पा रही हैं। लोग जरूरी इलाज की कमी से जूझ रहे हैं और मरने को मजबूर हैं।

एंड्र्यू टाय ने आईपीएल के दूसरे पक्ष पर बोलते हुए कहा है कि “अगर खेल इस तनावपूर्ण स्थिति में सब को थोड़ी राहत देता है, एक आशा की झलक दिखाता है कि सब ठीक है, तो मुझे लगता है कि ये (आईपीएल) चलते रहना चाहिए।” उन्होंने आखिर में कहा कि “लेकिन मैं जानता हूं हर किसी की भावना यही नहीं है और सभी की भावनाओं का सम्मान करता हूं।”

Related Articles

Leave a Comment