Latest News
Home ताजा खबर काशी विद्यापीठ: छात्रसभा के पाले में छात्रसंघ अध्यक्ष पद, पीएम के संसदीय क्षेत्र में एबीवीपी का सूपड़ा साफ!

काशी विद्यापीठ: छात्रसभा के पाले में छात्रसंघ अध्यक्ष पद, पीएम के संसदीय क्षेत्र में एबीवीपी का सूपड़ा साफ!

by Khabartakmedia

महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के छात्रसंघ चुनाव का परिणाम आ चुका है। काशी विद्यापीठ को अपने नए छात्रसंघ पदाधिकारी मिल चुके हैं। चुनाव के परिणाम ने हर किसी को चौंका दिया है। उम्मीद जताई जा रही थी कि छात्रसंघ के तीन शीर्ष पदों (अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और महामंत्री) पर जोरदार टक्कर देखने को मिलेगी। लेकिन ऐसा हुआ नहीं। सभी पदों के विजेताओं ने मामला एकतरफा जैसा कर दिया है। काशी विद्यापीठ विश्वविद्यालय के छात्रसंघ में दो पद समाजवादी छात्र सभा के खाते में गए हैं। जबकि दो पदों पर एनएसयूआई ने जीत हासिल की है। इसी के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की बत्ती गुल हो गई है। एबीवीपी एक भी पद जीतने में नाकाम रही।

काशी विद्यापीठ में छात्रसंघ के पद छात्र सभा के उम्मीदवार विमलेश यादव (1859 वोट) विजई हुए हैं। अध्यक्ष पद पर दूसरे नंबर पर एनएसयूआई के आलोक रंजन (1224 वोट) रहे। तो वहीं एबीवीपी के शशि शेखर सिंह (1139 वोट) तीसरे पायदान पर रहे।

शपथ लेते नवनिर्वाचित अध्यक्ष विमलेश यादव, (कुलपति प्रो टी एन सिंह की मौजूदगी में)

उपाध्यक्ष पद पर बड़ी उलटफेर देखने को मिली है। कहा जा रहा था कि छात्र सभा के संजय यादव और एनएसयूआई के संदीप में पाल में जोरदार भिडंत है। लेकिन हार जीत का फैसला लगभग दोगुना रहा। संदीप पाल (2467 वोट) ने भारी जीत दर्ज की है। तो वहीं संजय यादव 1198 मतों पर सिमट गए। एबीवीपी के शशिधर जायसवाल को महज 452 वोट ही मिले। इस पद पर 152 लोगों ने नोटा पर वोट दिया है तो 25 मत अवैध साबित हुए।

शपथ लेते नवनिर्वाचित उपाध्यक्ष संदीप पाल

महामंत्री पद के परिणाम ने लोगों को नहीं चौंकाया। पहले से विश्वविद्यालय में प्रफुल पांडेय के पक्ष में बातें सामने आ रही थीं। एनएसयूआई के प्रफुल पांडेय (2360 मत) ने भी बड़ी जीत दर्ज की है। इसी के साथ एनएसयूआई ने लगातार दूसरी बार यहां महामंत्री का पद अपने पाले में कर लिया है। एबीवीपी के प्रत्याशी अभय शक्ति सिंह (1559 वोट) और छात्र सभा के अमन भारद्वाज (291 वोट) क्रमशः दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे।

शपथ लेते नवनिर्वाचित महामंत्री प्रफुल पांडेय

पुस्तकालय मंत्री के पद का परिणाम पहले से ही तय माना जा रहा था। आशीष गोस्वामी ने 2767 वोटों के साथ एबीवीपी के अंकित वर्मा को बड़े अंतर से हराया है। अंकित वर्मा को कुल 1273 वोट मिले। इस पद पर 213 मतदाताओं ने नोटा का इस्तेमाल किया। तो वहीं 41 मत अवैध करार दिए गए।

शपथ लेते नवनिर्वाचित पुस्तकालय मंत्री आशीष गोस्वामी

चुनाव परिणाम की आधिकारिक घोषणा निर्वाचन अधिकारी प्रो. कृपाशंकर जायसवाल ने की। इसके बाद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. टी. एन. सिंह ने सभी विजेताओं को शपथ दिलाई। शपथ दिलाने के बाद कुलपति ने निर्वाचन अधिकारी और उनकी टीम की सराहना की। उन्होंने पूरा चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से बीतने पर सभी छात्र नेताओं को भी बधाई दिया।

Related Articles

Leave a Comment