Latest News
Home Uncategorizedपत्रकारिता ABP NEWS के पत्रकार की संदिग्ध मौत, शराब माफियाओं द्वारा हत्या की आशंका, मांगी थी सुरक्षा!

ABP NEWS के पत्रकार की संदिग्ध मौत, शराब माफियाओं द्वारा हत्या की आशंका, मांगी थी सुरक्षा!

by

ABP NEWS चैनल के एक पत्रकार की मौत हो गई है। पत्रकार का नाम सुलभ श्रीवास्तव (Sulabh Srivastava) है। सुलभ श्रीवास्तव उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले के रहने वाले थे। बीते रविवार यानी 13 जून को उनकी संदिग्ध मौत हो गई। आशंका जताई जा रही है कि सुलभ की मौत एक हत्या है। जो शराब माफियाओं के इशारे पर हुई है।

रविवार को सुलभ श्रीवास्तव कहीं से मीडिया कवरेज कर के आ रहे थे। इस बीच वो कटरा रोड के एक ईंट भट्ठे के नजदीक घायल अवस्था में पाए गए। खबरों के मुताबिक वहीं आसपास मौजूद कुछ लोगों ने सुलभ श्रीवास्तव के फोन से उनके किसी परिचित को दुर्घटना की जानकारी दी। साथ ही एम्बुलेंस बुलाकर उन्हें जिला अस्पताल पहुंचाया गया। अस्पताल में डॉक्टर ने सुलभ श्रीवास्तव को मृत घोषित कर दिया।

मीडिया में फिलहाल प्रतापगढ़ के एक पुलिस अधिकारी सुरेंद्र द्विवेदी का एक बयान चल रहा है। सुरेंद्र द्विवेदी ने कहा है कि “सुलभ श्रीवास्तव अपनी मोटरसाइकिल से रविवार की रात 11 बजे एक मीडिया कवरेज से लौट रहे थे। अपनी बाइक पर वो अकेले ही थे। इसी दौरान एक ईंट भट्ठे के पास मोटरसाइकिल से वो गिर गए। जिसके बाद ईंट भट्ठे के ही कुछ मजदूरों ने उनके फोन से किसी दोस्त को इसकी जानकारी दी। मजदूरों ने ही एम्बुलेंस को फोन मिलाया।”

चिट्ठी कह रही है दूसरी कहानी:

सुलभ श्रीवास्तव ने अपनी मौत से ठीक एक दिन पहले यानी 12 जून को प्रयागराज जोन के एडीजी और एसपी को एक चिट्ठी लिखी थी। उन्होंने पुलिस को अपने सुरक्षा के बारे पत्र लिखा था। उन्होंने इस चिट्ठी में अपने जान पर खतरा बताया था। कहा था कि कुछ शराब माफिया मुझे या मेरे परिवार को कोई नुकसान पहुंचा सकते हैं।

“पिछले दिनों जनपद कुंडा, हथिगवां, अंतू एवं कुछ अन्य थानाक्षेत्रों में पुलिस की छापेमारी में अवैध शराब का जखीरा एवं फैक्ट्री पकड़ी गई थी। इसकी कवरेज मैंने भी की थी। 9 जून, 2021 को ABP NEWS चैनल के डिजिटल प्लेटफॉर्म पर इससे जुड़ी एक खबर भी चली थी”, सुलभ अपनी चिट्ठी में लिखते हैं।

सुलभ श्रीवास्तव द्वारा एडीजी को लिखा गया पत्र

उन्होंने अपने पत्र में बताया है कि उनकी इस कवरेज से कई शराब माफिया नाराज थे। उन्होंने पुलिस को लिखा था कि “पिछले दो दिनों से जब भी मैं घर से बाहर निकलता हूं तो मुझे ऐसा प्रतीत होता है कि कोई मेरा पीछा कर रहा है। सूत्रों और चर्चाओं के आधार पर मुझे ऐसा लगता है कि कुछ शराब माफिया जो मेरी खबर से नाखुश हैं, मुझे अथवा मेरे परिवार को कोई भी नुकसान पहुंचा सकते हैं।”

मौत की आशंका को मजबूत करते सबूत:

पुलिस को चिट्ठी लिखने के ठीक एक दिन बाद हुई सुलभ श्रीवास्तव की मृत्यु ने कई सवाल उठा दिए हैं। उन्होंने अपने साथ किसी अनहोनी की आशंका से पुलिस को पहले ही अवगत कराया था। सुलभ श्रीवास्तव कटरा रोड पर जिस हालत में पड़े थे उससे भी कई सवाल उठते हैं और हत्या की आशंका पुख्ता हो जाती है।

सुलभ के शरीर पर कई चोटों के निशान हैं। उन्होंने जो शर्ट पहनी हुई थी उसके सभी बटन खुले हुए थे। यहां तक कि उनका पायजामा भी उतरा हुआ था। शरीर एकदम संदिग्ध हालत में पड़ी हुई थी। ऐसे में सवाल उठता है कि अगर ये महज एक सड़क दुर्घटना थी तो पूरे घटना की तस्वीर ऐसी क्यों है? बहरहाल पुलिस ने अपनी प्राथमिक रिपोर्ट में इसे एक सड़क दुर्घटन बताया है। हालांकि इसके बावजूद पुलिस इस मामले की जांच में जुटी हुई है।

Related Articles

Leave a Comment