Latest News
Home चुनावी हलचल पंचायत चुनाव के फेर में पुलिसकर्मियों की जान दांव पर, आंकड़ा हैरान करने वाला!

पंचायत चुनाव के फेर में पुलिसकर्मियों की जान दांव पर, आंकड़ा हैरान करने वाला!

by Khabartakmedia

UTTAR PRADESH PANCHAYAT ELECTION: पश्चिम बंगाल हो या हो उत्तर प्रदेश दोनों की कहानी एक जैसी हो चुकी है। दोनों ही राज्यों में लोगों की जान से ज्यादा जरूरी हो चुकी है चुनाव। वही चुनाव जिसमें जनप्रतिनिधि चुने जाते हैं। वही जनप्रतिनिधि जो इस महामारी में नदारद दिख रहे हैं। एक तरफ पश्चिम बंगाल में विधानसभा के चुनाव हो रहे हैं। तो दूसरी ओर उत्तर प्रदेश में पंचायत के चुनाव। दोनों ही राज्यों में जमकर चुनाव प्रचार अपने स्तर पर हो रहा है। भीड़ जुट रही है और लोगों की जान सरेआम ख़तरे में डाली जा रही है।

उत्तर प्रदेश में हो रही पंचायत चुनाव जनता के साथ चुनाव कर्मियों के लिए भी जानलेवा साबित हो रही है। चुनाव की ड्यूटी में झोंक दिए गए पुलिसकर्मी और अन्य कर्मचारियों की जान जोखिम में है। मीडिया की रपटें बता रही हैं कि पंचायत चुनावों में बड़ी संख्या में पुलिस वाले कोरोना वायरस से संक्रमित हो रहे हैं। प्रदेश में पहले चरण के मतदान तक कुल 600 से ज्यादा पुलिस के जवान कोविड-19 से संक्रमित हो गए थे। जबकि दूसरे चरण के मतदान के बाद इस संख्या में और भी उछाल दर्ज की गई। बीते 21 अप्रैल तक यह संख्या दोगुनी हो गई थी।

खबरों के मुताबिक 21 अप्रैल तक चुनाव की ड्यूटी में लगे कुल 1276 पुलिस वाले इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं। इनमें अग्रिम पंक्ति के पुलिसकर्मियों की संख्या करीब नौ सौ से अधिक है। 934 फ्रंटलाइन वॉरियर्स पुलिसकर्मी कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं। जबकि इस वायरस की चपेट में आने से 9 पुलिसवालों ने अपनी जान गंवा दी है।

दो चरणों का मतदान शेष:

उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव कुल चार चरणों में संपन्न होने वाला है। 26 अप्रैल को तीसरे चरण के लिए मतदान हुआ है। उसके बाद चौथे और अंतिम चरण के लिए मतदान होंगे। लेकिन चुनाव में लगे कर्मचारी बड़ी संख्या में इस संक्रमण के शिकार हो रहे हैं। राज्य चुनाव आयोग और उत्तर प्रदेश सरकार के जिद की कीमत पुलिसकर्मी व अन्य कर्मचारियों को चुकानी पड़ रही है। लेकिन इस बात की फिक्र किसी को नहीं है। तमाम उठते सवालों और खौफनाक स्थिति के बीच भी राज्य में पंचायत के चुनाव कराए जा रहे हैं। लोगों की जान घोंटते हुए ये चुनाव अब अपने आखिरी पड़ाव की ओर पहुंचने को है। देखना होगा कि अंतिम चरण के मतदान तक अभी और कितने कर्मचारी कोविड-19 से संक्रमित होते हैं?

Related Articles

Leave a Comment