Latest News
Home कोरोना वायरस पूर्व राष्ट्रपति के बेटे के लिए संकटमोचक बने श्रीनिवास

पूर्व राष्ट्रपति के बेटे के लिए संकटमोचक बने श्रीनिवास

by Khabartakmedia

भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के बेटे हैं अभिजीत मुखर्जी। अभिजीत मुखर्जी कांग्रेस के सांसद भी रह चुके हैं। कोविड-19 महामारी में हर किसी के लिए जरूरी स्वास्थ्य व्यवस्था कर पाना बेहद चुनौतीपूर्ण काम बन गया है। अस्पताल में बिस्तर चाहिए या प्लाज्मा। रेमेडेसिविर की इंजेक्शन चाहिए या खून। चाहे कोरोना की जांच ही क्यों ना करानी हो। ये सारे काम लोहे के चने चबाने जैसा है। मरीजों की संख्या इतनी अधिक हो चुकी है कि स्वास्थ्य व्यवस्था उसके सामने राई का दाना लगने लगा है।

अभिजीत मुखर्जी ने ट्विटर पर एक ट्वीट किया। जिसमें कोलकाता में रेमेडेसिविर इंजेक्शन की जरूरत बताई गई थी। यह इंजेक्शन उन्होंने अपने पहचान के किसी व्यक्ति के लिए मांगी थी। उन्होंने यह मांग की थी यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास से। जो कोविड-19 की दूसरी लहर में लगातार व्यापक स्तर पर लोगों की मदद कर रहे हैं। श्रीनिवास ने इस ट्वीट का जवाब दिया। कहा कि जल्द ही कोलकाता की टीम इंजेक्शन पहुंचाएगी।

कुछ ही देर बाद श्रीनिवास की टीम के लोगों ने रेमेडेसिविर का इंजेक्शन पहुंचा दिया। तब अभिजीत मुखर्जी ने एक बार फिर ट्वीट किया। उन्होंने लिखा कि “अंततः कोलकाता में श्रीनिवास जी और उनकी टीम की मदद से मरीज को रेमेडेसिविर मिल गई। ये है इंडियन यूथ कांग्रेस और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस। जब भी देशवासियों को जरूरी होती है हमारी पार्टी कभी पीछे नहीं हटती है। एक लम्बी सूची है जब कांग्रेस के नेताओं ने अपने जीवन से ऊपर देश को रखा है।

ट्विटर पर कई लोगों ने इस बात को तूल देने की कोशिश की। तभी अभिजीत मुखर्जी ने इसे लेकर स्थिति स्पष्ट कर दी। उन्होंने साफ कहा कि वे खुद एक कांग्रेस के नेता हैं। और एक दूसरे कांग्रेस नेता से मदद ले रहे हैं। इसमें कोई हैरानी की बात नहीं है।

Related Articles

Leave a Comment