Latest News
Home कोरोना वायरस वैक्सीन की दौड़ में 124 साल की बुजुर्ग ने मारी बाजी, मिली पहली खुराक

वैक्सीन की दौड़ में 124 साल की बुजुर्ग ने मारी बाजी, मिली पहली खुराक

by Khabartakmedia
Rehtee Begum

Jammu Kashmir. बुधवार को एक गजब की तस्वीर सामने आई है। ऐसी फोटो जो आपके चेहरे पर जोर की हंसी नहीं, हल्की सी मुस्कान छोड़ जाएगी। उम्मीद है कि इस मुस्कुराहट के साथ आंखें भी भर जाएं। जीवन जीने की ललक का अनूठा उदाहरण। कोरोना महामारी की इस विपदा और मानसिक तनाव के दौर में ये तस्वीर एक सुहानी याद की तरह है। जो आपका मन कई दिनों तक ताजा किए रहेगी। कश्मीर के बुजुर्ग की यह तस्वीर आपको जीवन के प्रति एक नई उमंग दे जाएगी।

इस तस्वीर में एक बुजुर्ग महिला दिख रही हैं। जिन्हें कोरोना की टीका लगाई जा रही है। बुजुर्ग महिला का नाम है रेहती बेगम। रेहती बेगम कश्मीर के बारामूला की रहने वाली हैं। बारामूला में कराल मोहल्ला एक जगह है। इसी जगह इनका घर है। घर घर जाकर टीका लगाने के अभियान के दौरान चिकित्साकर्मी इनके घर भी पहुंचे। उन्होंने रेहती बेगम को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगा दी।

अब आप सोच रहे हैं कि इसमें ख़ास बात क्या है? कोरोना संक्रमण से बचने के लिए लाखों करोड़ों लोगों को टीका लगाई जा रही है। लेकिन ठहरिए, ख़ास नहीं बेहद ख़ास बात है। रेहती बेगम की उम्र 124 साल है। जी हां, लगभग सवा सौ साल। सवा सौ साल से सिर्फ एक वर्ष कम। 124 वर्ष की बुजुर्ग रेहती बेगम को आज कोरोना के टीके की पहली खुराक लगाई गई।

नहीं है पहला मौका:

120 वर्षीय धोली देवी

जम्मू-कश्मीर के लिए ये पहला मौका नहीं है। इससे पहले भी एक लगभग इतने ही उम्र की बूढ़ी महिला को कोरोना की टीका लगाई गई थी। बीते 21 मई को जम्मू कश्मीर के धोली देवी को टीका लगा। धोली देवी की उम्र 120 साल है।

Related Articles

Leave a Comment