Latest News
Home Uncategorizedपत्रकारिता साउथ एशियन मीडिया टीचर्स एसोसिएशन समता के तत्वावधान में परिचर्चा का आयोजन

साउथ एशियन मीडिया टीचर्स एसोसिएशन समता के तत्वावधान में परिचर्चा का आयोजन

by Khabartakmedia

शुक्रवार को अनलाइन प्लेटफॉर्म पर साउथ एशियन मीडिया एजुकेटर्स एसोशिएशन;समता की बैठक आयोजित हुई। इस बैठक में समूचे दक्षिण एशियाई देशों में कोविड-19 के बाद मीडिया शिक्षा तथा शोध की भावी रणनीतियों पर चर्चा की गई। नए साल के पहले ही दिन आयोजित इस बैठक में भारत, बांग्लादेश, श्रीलंका तथा भूटान आदि देशों के मीडिया शिक्षकों और शोधार्थियों ने भागीदारी की। इस अवसर पर नए सदस्यों से समता से परिचय करवाते हुए इस संगठन के उद्देश्यों पर डॉ. प्रभाशंकर मिश्रा ने चर्चा की। उन्होंने कहा कि “समता जैसे वैश्विक संगठन का दक्षिण एशियाई देशों के बीच मीडिया शिक्षकों और शोधार्थियों के बीच ज्ञान के आदान-प्रदान का एक सशक्त मंच बनकर उभरना आवश्यक है।”


कार्यक्रम में उपस्थित सभी सदस्यों का स्वागत समता के कार्यकारी संयोजक डाॅ. मनोहर लाल ने किया। उन्होंने समता की बैठक में नए जुड़े सदस्यों का परिचय भी करवाया। बांग्लादेश के पूर्व मुख्य सूचना आयुक्त प्रो. गुलाम रहमान ने कहा कि “दक्षेस के सदस्य देशों के बीच आपसी संवाद कायम करने में मीडिया की महत्वपूर्ण भूमिका है। इसके साथ ही इस प्रक्रिया में समता जैसे संगठन भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।” इस अवसर पर बांग्लादेश के चिटगांव विश्वविद्यालय से प्रो. राजीब नांदी ने कहा कि “सार्क देशों के मीडिया शिक्षकों के बीच आपसी संवाद और शोधकार्यों के आदान-प्रदान में समता जैसे संगठन की भूमिका अहम हो सकती है।”
तमिलनाडु के अन्ना विश्वविद्याल के मीडिया साइंस विभाग के प्राध्यापक और समता के संस्थापक सदस्य डाॅ. एस. अरूचेलवन ने कहा कि समता का सदस्यता अभियान चलाया जाएगा तथा मीडिया प्राध्यापकों को आपस में जोड़ा जाएगा। माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के संचार शोध एवं जनसंचार विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष डाॅ. संजीव गुप्ता ने कहा कि मीडिया शिक्षा की दिशा में समता जैसे वैश्विक संगठन की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है।


बैठक में एकमत से सभी ने कहा कि देश में मीडिया शिक्षा के क्षेत्र में अत्यधिक सुधार की आवश्यकता है। देश में मीडिया साक्षरता को बढ़ावा देने के लिए मीडिया शिक्षा को प्राथमिक स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल करने की आवश्यकता है। इस अवसर पर समता के संयुक्त तत्वावधान में दक्षिण एशिया में मीडिया और कोरोना विषय को लेकर एक पुस्तक प्रकाशन पर भी चर्चा हुई। सदस्यता बढ़ाने तथा सार्क देशों में समितियां बनाकर संयुक्त रूप से काम करने की दिशा में बात हुई। साउथ एशियन यूनिवर्सिटी दिल्ली में मीडिया विभाग आरंभ करने की चर्चा भी हुई।
इस अवसर पर  अन्ना विश्वविद्यालय चेन्नई के प्रो. अरूल सेल्वन, राजीव गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय अरुणाचल से डॉ. राजीव रंजन प्रसाद, महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ वाराणसी से डॉ. प्रभाशंकर मिश्रा, डॉ. मनोहर लाल, तथा इनवर्टिस विश्वविद्यालय के प्राध्यापक कमल उपाध्याय, शासकीय कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय इंदौर से प्रो. वंदना जोशी, रानीदुर्गावती विश्वविद्यालय जबलपुर के शोधार्थी कपिल प्रजापति, प्रमोद सिन्हा आदि लोग मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन एमसीयू के कर्मवीर विद्यापीठ खंडवा परिसर के निदेशक संदीप भट्ट ने किया।

Related Articles

Leave a Comment