Latest News
Home शिक्षा शिक्षक सत्याग्रह: वादे से फिर मुकर गए कुलपति प्रो. टी. एन. सिंह

शिक्षक सत्याग्रह: वादे से फिर मुकर गए कुलपति प्रो. टी. एन. सिंह

by Khabartakmedia

महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ विश्वविद्यालय के संविदा शिक्षकों को लेकर मंगलवार के दिन होने वाली कुलपति प्रो. टी. एन. सिंह और संकायाध्यक्षों, विभागाध्यक्षों और निदेशकों की बेहद अहम बैठक नहीं हो सकी। कुलपति की ओर से बैठक रद्द होने की कोई आधिकारिक सूचना या बयान जारी नहीं की गई है। बता दें कि पिछले चार महीनों से वेतन भुगतान नहीं होने के विरोध में काशी विद्यापीठ विश्वविद्यालय के मुख्य परिसर, गंगापुर परिसर और एनटीपीसी परिसर के कुल 78 संविदा शिक्षक 2 नवम्बर से ही सत्याग्रह पर बैठे हुए हैं। मंगलवार को शिक्षक सत्याग्रह का 16 वां दिन था। पिछले दिनों पूर्वांचल विश्वविद्यालय के शिक्षक संघ की मध्यस्थता के काशी विद्यापीठ के कुलपति और सत्याग्रही शिक्षकों के प्रतिनिधिमंडल के बीच हुई वार्ता में यह तय हुआ था कि 17 नवम्बर को कुलपति इस मसले पर सभी संकाय अध्यक्षों, विभागाध्यक्षों और निदेशकों के साथ बैठक करेंगे और किसी निष्कर्ष तक पहुंचने का प्रयास करेंगे। लेकिन आज यह बैठक नहीं हो सकी और विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से इसका कारण भी नहीं बताया गया है।
सत्याग्रही शिक्षकों का कहना है कि कुलपति प्रो. टी. एन. सिंह ने जानबूझकर इस बेहद जरूरी बैठक को रद्द कर दिया जबकि सभी लोग आज इस बैठक के लिए इंतजार कर रहे थे।


शुरू हो चुका है षड्यंत्र:
सत्याग्रही शिक्षकों की मानें तो विश्वविद्यालय प्रशासन के आला अधिकारी सत्याग्रह में शामिल संविदा शिक्षकों को तोड़ने का प्रयास कर रहे हैं। व्यक्तिगत नियुक्ति का प्रलोभन देकर सत्याग्रही शिक्षकों की एकता खत्म करने की जुगत हो रही है। हालांकि ये दावे आधिकारिक तौर पर नहीं किए गए हैं।

Related Articles

Leave a Comment