Latest News
Home शिक्षाविश्वविद्यालय शिक्षक सत्याग्रह: रंगोली तो सजी मगर नहीं मन सकी दीपावली

शिक्षक सत्याग्रह: रंगोली तो सजी मगर नहीं मन सकी दीपावली

by Khabartakmedia

महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ विश्वविद्यालय के संविदा शिक्षकों के लिए इस बार की दीवाली काली और भूल जाने लायक साबित हुई है। वेतन ना मिलने के विरोध में सत्याग्रह कर रहे संविदा शिक्षक शनिवार को दीपावली नहीं मना सकें। सभी शिक्षक अपने परिवार से दूर काशी विद्यापीठ के मौन पंत प्रशासनिक भवन के सामने सत्याग्रह पर बैठे रहे। संविदा शिक्षकों के सत्याग्रह का आज 13 वां दिन है।
बता दें कि आज दिल्ली विश्वविद्यालय के शिक्षक संघ (DUTA) के महामंत्री प्रो. संदीप कुमार ने सत्याग्रह स्थल पर पहुंचकर संविदा शिक्षकों का समर्थन किया। बीते दिन पूर्वांचल विश्वविद्यालय के शिक्षक संघ अध्यक्ष व महामंत्री भी इस सत्याग्रह के समर्थन में आए थे। प्रो. संदीप ने कहा कि “कुलपति को सोचना चाहिए कि महामारी में वेतन भुगतान ना करना न केवल मानवीय रूप से बल्कि केन्द्र एवं राज्य सरकारों द्वारा जारी निर्देशों का खुला उल्लंघन है। उन्होंने आगे कहा कि “मैं दिल्ली पहुंचते ही रणनीति बनाऊंगा और दिल्ली विश्वविद्यालय के शिक्षक भी सत्याग्रह में शामिल होंगे।”


गौरतलब है कि महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ विश्वविद्यालय के मुख्य परिसर, गंगापुर परिसर और एनटीपीसी शक्तिनगर सोनभद्र के कुल 78 संविदा शिक्षक पिछले चार महीने से वेतन ना मिलने के कारण आर्थिक बदहाली झेल रहे हैं। आर्थिक किल्लत की वजह से इन शिक्षकों के परिवार में आज दीपावली का त्योहार फिका पड़ गया है।

Related Articles

Leave a Comment