Latest News
Home शिक्षा विद्यापीठ: शिक्षकों के भूखहड़ताल पर कुलसचिव के दखल से खत्म हुआ सत्याग्रह

विद्यापीठ: शिक्षकों के भूखहड़ताल पर कुलसचिव के दखल से खत्म हुआ सत्याग्रह

by Khabartakmedia

महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के कुलपति प्रो० त्रिलोकनाथ सिंह की माता जी के देहावसान हो जाने के कारण संविदा शिक्षकों का सत्याग्रह एवं क्रमिक भूखहड़ताल आज 23वें दिन स्थगित किये जाने के उपरांत विश्वविद्यालय के कुलसचिव साहब लाल मौर्या ने सत्याग्रहियों से अंतिम वार्ता धरना स्थल पर की। उन्होने बताया की इन शिक्षकों की सभी मांगो को मान लिया गया है तथा 1 जुलाई से वेतन संबंधी मांग पर जल्द ही निर्णय लिया जायेगा। सभी शिक्षकों को आश्वासन दिया गया है कि किसी को निकाला नही जायेगा किन्तु शर्त एवं नियम के अनुसार उन्हे रिव्यू के लिये आवेदन करना होगा।

इससे पहले तो शिक्षक काफी उत्साहित नजर आये लेकिन उनकी बातों पर गौर करने के बाद चिंतित हो गये। शिक्षकों को आशंका है की कहीं उनके साथ अन्याय न हो जाये क्योंकि कई दौर के वार्ता में आश्वासन मिलने के बाद भी कोई सकारात्मक पहल नही की गई। इसी का नतीजा था कि सत्याग्रह इतना लंबा खीच गया। इस आन्दोलन के चलते विश्वविद्यालय की खूब किरकिरी भी हुई।


बहरहाल शिक्षकों ने भरोसा जताते हुए कहा कि जो भी हमारी मांग थी उसे कुलसचिव ने मान लिया है। और यदि वादे के अनुसार कार्यवाही नही होती है तो दोबारा सत्याग्रह भी कर सकते हैं। इस मौके पर वित्त अधिकारी, डॉ० प्रभा शंकर मिश्र, डॉ० शत्रुघ्न प्रसाद, डॉ० आनंद सिंह, डॉ० मारकंडेय सिंह यादव, डॉ० महेंद्र प्रसाद, डॉ ० एस पी एन सिंह, डॉ अविनाश सिंह, डॉ विवेक, डॉ ०रमेश कुमार मिश्र,डॉ० राजेश कुमार, डॉ० प्रशांत विश्वकर्मा, डॉ० आनंद कुमार यादव, डॉ० निर्मला , डॉ० अनुपमा श्रीवास्तव, डॉ० मानिकचंद पाण्डेय, डॉ० शशि प्रकाश, डॉ० अजय कुमार, डॉ मदन लाल, डॉ०दिनेश कुमार, डॉ० मनोज सोनकर ,डॉ० शशिकांत नाग, डॉ ० शत्रुघ्न प्रसाद, डॉ ० प्रदीप , डॉ० नरेन्द्र सिंह, डॉ० आनंद कुमार सिंह आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Comment