Latest News
Home राजनीति वाराणसी NSUI जिलाध्यक्ष ने जलाना चाहा कृषि मंत्री का पुतला, पुलिस से हुई छीनाझपटी

वाराणसी NSUI जिलाध्यक्ष ने जलाना चाहा कृषि मंत्री का पुतला, पुलिस से हुई छीनाझपटी

by Khabartakmedia

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा लाए गए तीनों कृषि कानूनों का विरोध देशभर के किसान कर रहे हैं। नए कृषि कानून के खिलाफ देशव्यापी आंदोलन किसानों द्वारा चलाया जा रहा है। किसान आंदोलन के शुरू हुए आज लगभग तीन हफ्ते बीत चुके हैं। यह आंदोलन मुख्य रूप से पंजाब और हरियाणा के किसानों के नेतृत्व में हो रहा है। हरियाणा और पंजाब के किसान सींघू बॉर्डर समेत कई जगहों पर अपना डेरा डाले बैठे हैं। किसानों की मांग है कि केंद्र सरकार तीनों कृषि कानून वापस ले और उन्हें न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) की गारंटी दे।

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का पुतला लिए एनएसयूआई कार्यकर्ता

किसान आंदोलन के समर्थन और मोदी सरकार के विरोध में शनिवार को वाराणसी एनएसयूआई के जिलाध्यक्ष और महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ विश्वविद्यालय के छात्रसंघ महामंत्री ऋषभ पांडेय के नेतृत्व में एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने विद्यापीठ रोड पर केंद्र सरकार के कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का पुतला जलाने निकल। लेकिन मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने एनएसयूआई कार्यकर्ताओं के साथ छीनाझपटी करके नरेंद्र सिंह तोमर का पुतला छीन ले लिया।

पुलिस और कार्यकर्ताओं बीच खींचतान

मीडिया से बातचीत करते हुए ऋषभ पांडेय ने कहा कि “ये सरकार शुरू से ही युवा और किसान विरोधी रही है। मोदी सरकार नेताओं के रहने के लिए नया संसद भवन बनवा सकती है लेकिन किसानों की समस्याओं का समाधान नहीं दे सकती है।” उन्होंने आगे कहा कि “ये सरकार अंबानी, अडानी और रामदेव बाबा जैसे व्यवसायियों की सरकार है जो किसानों का अनाज कौड़ी के भाव खरीदकर सोने के दाम में बेचते हैं।” आज कृषि मंत्री के पुतला दहन करने वालों में शशांक शेखर सिंह, अभय शक्ति सिंह, प्रभु पटेल , रामेश्वर सिंह , सुमित कुमार सिंह , भास्कर तिवारी व अन्य एनएसयूआई कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Comment