Latest News
Home चुनावी हलचल भाजपा ने किया चुनाव जीतने पर बिहार में 19 लाख रोजगार देने का वादा, नीतीश कुमार का सवाल “पैसा कहां से लाओगे”

भाजपा ने किया चुनाव जीतने पर बिहार में 19 लाख रोजगार देने का वादा, नीतीश कुमार का सवाल “पैसा कहां से लाओगे”

by Khabartakmedia

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी ने अपनी चुनावी घोषणा पत्र जारी कर दी है। भाजपा ने इसे 5 सूत्र, 1 लक्ष्य, 11 संकल्प: आत्मनिर्भर बिहार का रोड मैप” नाम दिया है। भारतीय जनता पार्टी ने इस घोषणा पत्र में कई बड़े वादे बिहार की जनता से किए हैं। भाजपा ने अपने पहले संकल्प में कहा है कि कोविड-19 की वैक्सीन बन जाने के बाद इसे बिहार के लोगों को मुफ्त में उपलब्ध कराया जाएगा। भाजपा के पहले वादे पर ही अब कई सवाल खड़े हो गए हैं। पूछा जा रहा है कि जब कोरोना की जांच बिहार में मुफ्त नहीं हो सका और कोविड के इलाज के लिए भी लाखों रुपए एक व्यक्ति से ऐंठे गए तो कैसे मान लिया जाए कि कोविड-19 की वैक्सीन मुफ्त मिलेगी? साथ ही लोगों का यह भी कहना है कि क्या बिहार में चुनाव है इसलिए लोगों को रिझाने के लिए ये वादा किया जा रहा है?


भाजपा ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में दूसरा सबसे बड़ा वादा रोजगार को लेकर किया है। भाजपा ने तीन संकल्पों के जरिए बिहार के 19 लाख लोगों को रोजगार देने का वादा किया है। 19 लाख रोजगार में से एक साल के भीतर 3 लाख शिक्षकों की नियुक्ति, पांच साल में 5 लाख नौकरी आईटी सेक्टर में, 1 लाख लोगों को स्वास्थ्य क्षेत्र में और 10 लाख लोगों के लिए रोजगार औषधीय पौधों की सप्लाई चेन विकसित करके सृजित किए जाएंगे। अब इस वादे पर लोग भाजपा के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ रहे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ही सवाल दोहराने लगे हैं। गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले जब विपक्षी नेता तेजस्वी यादव ने वादा किया था कि उनकी सरकार बनी थी तो राज्य के दस लाख लोगों को सबसे पहले नौकरी दी जाएगी तब नीतीश कुमार ने एक रैली में तेजस्वी का मजाक उड़ाते हुए पूछा था कि “इतने लोगों को नौकरी दे दोगे तो पैसा कहां से लाओगे, जेल से आएगा या नकली नोट छापोगे।” नीतीश ने अपने भाषण में कहा था कि इतने लोगों को रोजगार देना संभव नहीं क्योंकि राज्य सरकार के पास इतना पैसा नहीं है। इसलिए सवाल उठ रहे हैं कि नीतीश कुमार की सहयोगी दल भाजपा जब 19 लाख लोगों को रोजगार देने की बात कर रही है तो पैसा कहां से आएगा?
इन सुर्खीदार वादों के अलावा भाजपा ने नई शिक्षा नीति के तहत बिहार में तकनीकी शिक्षा हिन्दी भाषा में उपलब्ध कराने की बात भी की है।

Related Articles

Leave a Comment