Latest News
Home पूर्वांचल की खबरवाराणसी बुनकरों ने तेज की अपनी आंदोलन, निकाली शांति पदयात्रा

बुनकरों ने तेज की अपनी आंदोलन, निकाली शांति पदयात्रा

by Khabartakmedia

शनिवार को वाराणसी वस्त्र बुनकर संघ व बुनकर बिरादराना तंजीम के साझा पहल पर बुनकरों ने कटेहर, चौकाघाट, बजरडीहा, मदनपुरा, मदनपुरा, बड़ी बाजार और अन्य कई क्षेत्रों से शांति पदयात्रा निकाली। शांति पदयात्रा बुनकर कॉलोनी में जाकर समाप्त हुआ। बुनकर संघ के अध्यक्ष राकेश कांत राय ने कहा कि “सरकार हम बुनकरों की अग्नि परीक्षा न ले। आज 50 दिन से ऊपर हो गए। शुक्रवार को बुनकर बंधुओं ने मस्जिद में दुआ ख्वानी की और सरकार के शुद्धि बुद्धि के लिए यज्ञ भी किया, फिर भी सरकार की आंख नहीं खुल रही है। जबकि प्रतिदिन डेढ़ सौ करोड़ से ऊपर के राजस्व की क्षति हो रही है और बुनकरों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। बीते दिन प्रदेश बुनकर सभा के अध्यक्ष हाजी इफ्तेखार अंसारी आ रहे हैं, कल से बुनकर आंदोलन की दिशा और धारा बदल जाएगी। किसी भी कीमत पर हम बुनकरों की मांगों को कुचला नहीं जा सकता।” शनिवार को बनारस कलाबत्तू जड़ी उद्योग महासंघ के अध्यक्ष राजेंद्र गांधी कुशवाहा ने अपना समर्थन पत्र सौंपते हुए कहा कि “हम फ्लैट रेट बहाली के लिये अपना समर्थन वाराणसी वस्त्र बुनकर संघ को देते हैं और उनके आंदोलन में भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लेंगे और प्रदेश सरकार को यह बताना चाहते हैं कि अब बनारस में पूरी तरीके से बुनकर आंदोलन के पक्ष में आग लग चुकी है।”

इस शांति पदयात्रा में सभी तंजीमों के सरदार महतो साहबान और वाराणसी वस्त्र बुनकर संघ के पदाधिकारी मौजूद रहे जिसमें प्रमुख रुप से अकरम अंसारी, मेहताब आलम, बेलाल अहमद, शैलेश सिंह, ज्वाला सिंह, अजीत कुमार गुप्ता, संजय प्रधान, अनीशुर्रहमान, मुरारी मौर्य, इशरत उस्मानी, अनिल मुंद्रा समेत अन्य बहुत से लोग शामिल थे।

Related Articles

Leave a Comment