Latest News
Home ताजा खबर काल भैरव के योगी योगेश्वर ने कोरोना महामारी पर आयोजित की ‘व्यथा’ संगोष्ठी

काल भैरव के योगी योगेश्वर ने कोरोना महामारी पर आयोजित की ‘व्यथा’ संगोष्ठी

by Khabartakmedia

वाराणसी के सुप्रसिद्ध काशी के कोतवाल कहे जाने वाले भगवान काल भैरव मंदिर के योगी योगेश्वर ने ‘व्यथा’ गोष्टी के अंतर्गत वैश्विक महामारी ‘कोरोना मानवता के लिए अभिशाप’ पर एक गोष्ठी का आयोजन किया। योगी योगेश्वर ने कहा कि कोरोना से बचाव सफलता का उपाय है सिर्फ सरकार ही नहीं हमें भी सरोकार रखना है। अपनी सुरक्षा से किसी भी समस्या के समाधान के लिए अनुशासन व प्रशासन दोनो का होना अनिवार्य है । जहां प्रशासन इस महामारी को मारेगा वही जनता का अनुशासन इस बीमारी को समाप्त करेगा।

अतः कोरोना से डरने की आवश्यकता नहीं उसे डराने की आवश्यकता है। और इसके लिए जो निश्चित दूरियां निश्चित मापदंड तय किए गए हैं उनका हमें पालन करना चाहिए। हाथों की सफाई के साथ-साथ मास्क का प्रयोग अनिवार्य रखें।

इस अवसर पर इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि वर्ल्ड भोजपुरी आर्गनाईजेशन के अध्यक्ष डॉक्टर अपूर्व नारायण तिवारी उर्फ ‘बनारसी बाबू’ ने कहा कोरोना मानवता के लिए अभिशाप है, मगर हम अपने उपायों से इस अभिशाप के काल में नई संभावनाओं को जन्म दे सकते हैं। यह संभावनाएं मानव को महामानव के पथ पर ले जाने के लिए पर्याप्त होगी। हमें स्वस्थ और अनुशासित जीवन ही जीना होगा तभी कोरोना पर विजय पाई जा सकती है। इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार सुरेश पांडे ने कहा कि ऐसी छोटी-छोटी गोष्ठियों के द्वारा समाज को और समाज के हर तबके को जागृत करने में बहुत मदद मिलेगी। उन्होने योगी योगेश्वर द्वारा के किए जा रहे प्रयासों की सराहना की। इस मौके पर आध्यात्मिक चिंतक अजीत पाठक ,मोहन प्रजापति, चंदन विश्वकर्मा और साधक किशन विश्वकर्मा, नगर प्रमुख योग निरोग केंद्र सहित कई गणमान्य मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Comment