Latest News
Home पूर्वांचल की खबरवाराणसी अस्सी घाट पर दीपावली की तैयारियां तेज, गजब के तकनीक से काटी जा रही है मिट्टी की ढेर

अस्सी घाट पर दीपावली की तैयारियां तेज, गजब के तकनीक से काटी जा रही है मिट्टी की ढेर

by Khabartakmedia

वाराणसी के सबसे प्रचलित घाटों में से एक अस्सी घाट दीपावली और छठ पूजा के लिए तैयार होने लगी है। देश और दुनिया के विभिन्न कोनों से आने वाले सैलानियों के लिए दीपावली और छठ पर्व एक विशेष अवसर होता है घाट घूमने और गंगा दर्शन करने के लिए।
फिलहाल बाढ़ की वजह से उबड़-खाबड़ हो चुकी जमीन को समतल किया जा रहा है। मिट्टी काटकर जमीन बराबर की जा रही है ताकि दीपावली और छठ पूजा के मौके पर श्रद्धालुओं को सुभिता हो सके और किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े। हालांकि कोरोना महामारी की वजह से इस बार घाट पर आने वाले लोगों की संख्या में कमी जरूर आएगी। लेकिन फिर भी हजारों की तादाद में लोग दीपावली के मौके पर घाट पर दीपक जलाने और फिर छठ पूजा मनाने आएंगे।


पानी की धार से काटी जा रही है मिट्टी की ढेर:
पिछले दिनों गंगा नदी में पानी बहुत अधिक बढ़ जाने के कारण पूरा घाट डूब गया था। इस दौरान बाढ़ की पानी के साथ आई हुई मिट्टी घाट पर ही जम गई है और सीढ़ियां तक ढक चुकी हैं। इसीलिए पहले अतिरिक्त मिट्टी की कटाई हो रही है।
जिस तरह पानी की धार के साथ आकर ये मिट्टी बैठी थी उसी तरह पानी की धार से ही मिट्टी की कटाई भी हो रही है।

पंपिंग सेट मशीनों के जरिए गंगा नदी के पानी की तेज धार मारकर मिट्टी काटी जा रही है। इस काम में लगे एक कामगार ने बताया कि एक महीने से करीब छह मशीनें लगी हुई हैं लेकिन पिछले एक सप्ताह में काम तेज किया गया है और अब करीब 10 पंपिंग सेट से काम हो रहा है। उसी मजदूर ने बताया कि ठेकेदारी पर चल रहे इस काम में सभी मजदूर सुबह आठ बजे से काम शुरू करते हैं और दोपहर चार बजे तक पानी की धार से सख्त हो चुकी मिट्टी को काटते हैं। उनके मुताबिक एक पंपिंग सेट में एक दिन में लगभग 10-11 लीटर डीजल लगता है। अभी इस काम को पूरा होने में दीपावली तक का समय लग सकता है।

Related Articles

Leave a Comment